बच्चो को खेलता छोडकर मा गयी थी वॉशिग पाउडर लाने 

तीन साल के जुडवा बच्चो का  गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार

दिल्ली के रोहिणी क्षेत्र में रहने वाले एक परिवार की गृहणी को बाजार से डिटरजेंट लेने जाना इस कद्र महंगा पड़ा कि उसके लौटने तक वाशिंग मशीन के टैंक में डूबने से उसके तीन साल के दो जुड़वां बेटों की मौत हो गई। शनिवार को मां के घर के पास ही स्थित दुकान पर जाने के बाद उक्त दोनों मासूम बच्चों को मौत बाथरूम तक खींच कर ले गई तथा  मशीन के पास रखे कपड़ों के ऊपर चढक़र वह पानी से भरे टैंक में झांकते समय उसमें जा गिरे तथा मौत के मुंह में समा गए।
 पुलिस के अनुसार कोटक महिंद्रा लाइफ इंश्योरेंस में मैनेजर कार्यरत रविंद्र सिंह पत्नी राखी और तीन बेटों सहित रोहिणी स्थित अवंतिका सेक्टर-1 के मकान संख्या बी-823 में रहता है। बड़ा बेटा आदी 10 साल का है, जबकि दो बेटे जुड़वा नक्ष और निशांत उर्फ नीशु तीन साल के थे। शनिवार सुबह रविंद्र काम से घर से जाने के बाद बड़ा बेटा स्कूल चला गया तथा राखी दोनों बेटों को नहलाने के बाद वाशिंग मशीन में पानी भरकर घर के पास ही एक दुकान से वॉशिग पाउडर लाने चली गईं। थोड़ी देर बाद जब वह वापस लौटीं तो बच्चे कहीं दिखाई नहीं दिए। आसपास तलाशने के बाद भी बच्चों के ना मिलने पर पति को इसकी सूचना दी। इसी बीच पड़ोसी ने दोपहर 1.10 बजे पुलिस को दोनों बच्चों के गुम होने की फोन पर जानकारी दे दी। उधर, घर पहुंचे रविंद्र दोनों बेटों को तलाशते हुए बाथरूम में पहुंचे तो वाशिंग मशीन में दोनों बच्चे मुंह के बल पड़े देख उनके होश उड़ गए। तुरंत बच्चों को रोहिणी के जयपुर गोल्डन अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। शनिवार को देर शाम परिजनों ने गमगीन माहौल में उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

Tags

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.