दिल्ली में डीएसजीपीसी चुनाव को लेकर तैयारियां पूरी, मतदान शुरु - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Saturday, February 25, 2017

दिल्ली में डीएसजीपीसी चुनाव को लेकर तैयारियां पूरी, मतदान शुरु


 दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीपीसी) के 46 वार्डों  के लिए 26 फरवरी रविवार को मतदान होगा। जिसके लिए गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय ने भी निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए कमर कस ली है। सबसे बड़ी चुनौती संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों में निष्पक्ष चुनाव कराना है, इसलिए इन केंद्रों पर ज्यादा संख्या में पुलिस बल तैनात करने के साथ ही यहां की वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी।
मैदान में हैं 335 प्रत्याशी
डीएसजीपीसी चुनाव के लिए कुल 335 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिनमें 184 निर्दलीय उम्मीदवार शामिल हैं। शिरोमणि अकाली दल (शिअद-बादल) और शिअद दिल्ली (सरना) सभी 46 वार्डो में चुनाव ल? रहे हैं। पंथक सेवा दल ने 35 उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा था, जिसमें से वार्ड नंबर 5 (मॉडल टाउन) के प्रत्याशी रविंद्र सिंह कोहली ने शिअद बादल के प्रत्याशी को समर्थन कने का एलान कर दिया है। अकाल सहाय वेलफेयर सोसायटी के 11 और आम अकाली दल के 9 प्रत्याशी भी मैदान हैं।
57 अतिसंवेदनशील मतदान केंद्र
 डीएसजीपीसी चुनाव के लिए कुल 560 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इनमें से 111 संवेदनशील और 57 अतिसंवेदनशील हैं, इसलिए इन केंद्रों पर विशेष चौकसी रखी जाएगी। 32 पर्यवेक्षक मतदान केंद्रों पर नजर रखेंगे। पर्याप्त संख्या में पुलिसकर्मी भी तैनात किए जाएंगे।
बैलेट पेपर से होगा मतदान
 गुरुद्वारा चुनाव में ईवीएम मशीन की जगह बैलेट पेपर का उपयोग किया जाएगा। मतदाता सुबह आठ से शाम पांच बजे तक वोट डाल सकेंगे। मतदाताओं के घरों में मतदाता पर्ची भी पहुंचाई जा रही है, जिनके पास यह पर्ची होगी या जिनका नाम मतदाता सूची में है उन्हें ही मतदान की अनुमति दी जाएगी। इसलिए मतदाताओं को गुरुद्वारा निदेशालय की वेबसाइट या फिर संबंधित रिटर्निग ऑफिसर से मिलकर अपने नाम की जांच कर लेनी चाहिए।
खड़े होकर नहीं करना पड़ेगा इंतजार

 मतदाताओं की सुविधा के लिए गुरुद्वारा निदेशालय ने कई कदम उठाए हैं। मतदान केंद्र पर ज्यादा देर तक खड़े ना रहना पड़े इसके लिए 45 मतदान परिसरों में वेटिंग एरिया बनाया जा रहा है। वेटिंग एरिया में कुर्सी लगी रहेगी, जिससे कि लोगों को अपनी बारी का इंतजार करने में परेशानी नहीं हो। 51 मतदान परिसर में हेल्प डेस्क बनाई जा रही है। इस तरह की सुविधा उन्हीं मतदान परिसरों में उपलब्ध होगी, जहां चार या इससे ज्यादा मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

1 comment: