दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीपीसी) के 46 वार्डों  के लिए 26 फरवरी रविवार को मतदान का काम शुरु हो गया है । मतदान के लिये गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय ने निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए पूरि तैयारी की है। संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों में निष्पक्ष चुनाव कराने के  लिए इन केंद्रों पर ज्यादा संख्या में पुलिस बल तैनात कर यहां की वीडियोग्राफी भी कराई जा रही है ।

मैदान में हैं 335 प्रत्याशी
डीएसजीपीसी चुनाव के लिए कुल 335 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिनमें 184 निर्दलीय उम्मीदवार शामिल हैं। शिरोमणि अकाली दल (शिअद-बादल) और शिअद दिल्ली (सरना) सभी 46 वार्डो में चुनाव लड  रहे हैं। पंथक सेवा दल ने 35 उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा था, जिसमें से वार्ड नंबर 5 (मॉडल टाउन) के प्रत्याशी रविंद्र सिंह कोहली ने शिअद बादल के प्रत्याशी को समर्थन कने का एलान कर दिया है। अकाल सहाय वेलफेयर सोसायटी के 11 और आम अकाली दल के 9 प्रत्याशी भी मैदान हैं।
57 अतिसंवेदनशील मतदान केंद्र
 डीएसजीपीसी चुनाव के लिए कुल 560 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इनमें से 111 संवेदनशील और 57 अतिसंवेदनशील हैं, इसलिए इन केंद्रों पर विशेष चौकसी रखी जा रही है । 32 पर्यवेक्षक जहाँ इन मतदान केंद्रों पर नजर रख रहे है वही पर्याप्त संख्या में पुलिसकर्मी भी तैनात किए गये हैं ।
खड़े होकर नहीं करना पड़ेगा इंतजार मतदाताओं की सुविधा के लिए गुरुद्वारा निदेशालय ने कई कदम उठाए हैं। मतदान केंद्र पर ज्यादा देर तक खड़े ना रहना पड़े इसके लिए 45 मतदान परिसरों में वेटिंग एरिया बनाया जा रहा है। वेटिंग एरिया में कुर्सी लगी रहेगी, जिससे कि लोगों को अपनी बारी का इंतजार करने में परेशानी नहीं हो। 51 मतदान परिसर में हेल्प डेस्क बनाई गयी है। इस तरह की सुविधा उन्हीं मतदान परिसरों में उपलब्ध है , जहां चार या इससे ज्यादा मतदान केंद्र बनाए गए हैं।
Tags

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.