टेलीफोन विभाग में टीटीई कार्यरत था मृतक 

मृतक दंपति के बेटे को आई मामूली चोटें

श्री मुक्तसर साहिब

 मलोट में अपने किसी रिश्तेदार के पाए आए डबवाली निवासी दंपति ने शायद ही सोचा होगा कि वह लोग मलोट से रुपाना के लिए भी रवाना होंगे तथा वहां पहुंचने से पहले ही मौत उनको अपने आगोश में ले लेगी। गांव रुपाना से महज दो किलोमीटर दूर उनकी गाड़ी हादसाग्रस्त हो गई तथा दंपति की मौत हो गई। इस घटना में मृतक के उनके साथ बेटे की हालत ठीक है जबकि दो लोग गंभीर जख्मी हैं, जिनमें से एक को लुधियाना रेफर कर दिया गया है। 
 डबवाली टेलीफोन एक्सचेंज में टीटीई कार्यरत रामशंकर पुत्र भगवंत दयाल आल्टो गाड़ी पर सवार होकर पत्नी नीलम, बेटे दीपक व अपने विभाग में ही जेई कार्यरत यादव लाल के साथ रविवार को मलोट में किसी रिश्तेदार के यहां आया था। मलोट में ही उन्हें टेलीफोन विभाग में ही कार्यरत रुपाना निवासी रिश्तेदार चंद्र प्रकाश पुत्र भूरा लाल भी मिल गया। हालांकि उक्त लोगों का रुपाना आने का कोई कार्यकम नहीं था, लेकिन शायद होनी को कुछ और ही मंजूर था तथा चंद्रप्रकाश के कहने पर वह लोग मलोट से रुपाना की रवाना हो लिए। करीब एक बजे जब उनकी गाड़ी मलोट श्री मुक्तसर मार्ग पर स्थित गांव चक्क दूहेवाला के पास पहुंची तो सड़क पर बने एक गड्ढे के कारण कार चला रहे यादव लाल के संतुलन से बाहर हो गई। इस दौरान बेकाबू हुई कार एक पेड़ के साथ जा टकरा गई तथा हादसाग्रस्त हो गई। घटना की सूचना पाकर रुपाना जन सहारा क्लब के सदस्यों ने जख्मियों को श्री मुक्तसर साहिब के बांसल नर्सिंग होम में पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने नीलम (55)पत्नी राम शंकर को मृत घोषित कर दिया जबकि उपचार के दौरान राम शंकर (57) ने भी दम तोड़ दिया। इस घटना में मृतक दंपति के बेटे दीपक को मामूली चोटें आई जिसे प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई जबकि कार चालक यादव लाल की गंभीर हालत को देखते हुए लुधियाना रेफर कर दिया।
Tags

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.