हालत पर आंसू बहा रही यह हेरिटेज यादगार

मूर्तियों का रंग पड़ा फीका, हाथों से शस्त्र भी हुए गायब

काउंसिल की अनदेखी : सिख इतिहास को दर्शाती मूर्तियां बदहाल अवस्था में

श्री मुक्तसर साहिब
 शहर का माई भागो युनिसिपल हेरिटेज पार्क नगर काउंसिल की अनदेखी का शिकार हुआ पड़ा है। पार्क में स्थापित सिख इतिहास को दर्शाती मूर्तियों का रंग जहां जगह-जगह से उखड़ा पड़ा है, वहीं कई मूर्तियां खंडित भी हुई पड़ी हैं। यहीं नहीं अब तो इन मूर्तियों के हाथों में पकड़े शस्त्र भी नदारद हो गए हैं। पार्क में जगह-जगह से पत्थर उखड़ा पड़ा है।
गौरतलब है कि सन 2013 में बनकर तैयार हुआ यह पार्क बेशक उस समय लोगों के  लिए खोल दिया गया था, मगर यह आज भी विधिवत तौर पर उद्घाटन से मरहूम है। बिना उद्घाटन के ही यह शुरु तो हो गया, मगर रख-रखाव के अभाव में यह आज दयनीय हालत पर आंसू बहाता नजर आ रहा है। पार्क में बनाए गए ओपन एयर ऑडिटोरियम पर लगाया गया लाल पत्थर जगह-जगह से उखड़ गया है। खुले आसमान के नीचे होने के कारण मूर्तियों पर किया गया रंग भी फीका पड़ गया है। मूर्तियों के हाथों में पकड़े शस्त्र तक गायब हो गए हैं। फुव्वारों के पास लगा पत्थर भी जगह-जगह से उखड़ गया है।

हरसिमरत बादल के सुझाव पर बना था यह पार्क


मुक्तसर शहर के ऐतिहासिक महत्व को देखते हुए शहर को टूरिज्म के नक्शे पर लाने के उद्देश्य से केंद्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल द्वारा दिए सुझाव पर इस पार्क का निर्माण हुआ था।
मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल व उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के निजी प्रयासों के चलते पार्क के निर्माण में पंजाब हेरिटेज एवं टूरिज्म विभाग का भी सहयोग रहा।
शहर के बीचो-बीच गुरु गोबिंद सिंह पार्क के पीछे ही दो एकड़ खाली पड़ी नगर काउंसिल की जगह पर वर्ष 2010 में तत्कालीन डिप्टी कमिश्नर वरुण रुजम व एडीसी अमित ढाका की देख-रेख में इसका निर्माण शुरु हुआ था। इसके निर्माण पर पंजाब हेरिटेज एवं टूरिज्म विभाग के करीब 65 लाख रुपये सहित नगर काउंसिल द्वारा किया गया खर्चा मिलाकर करीब 80 लाख रुपये की लागत आई। गुरुद्वारा श्री मेंहदीआना साहिब में मूर्तियां बनाने वाले मूर्तिकारों द्वारा माई भागो के अलावा विभिन्न मूर्तियों का निर्माण कर पार्क को विलक्षण रूप दिया गया था। यहीं नही पार्क में शानदार लाइट्स, घास, पौधे व फुव्वारों के अलावा ओपन एयर ऑडिटोरियम तथा शौचालयों इत्यादि की भी व्यवस्था की गई।

पार्क का अभी तक नहीं हुआ विधिवत उद्घाटन

 यह पार्क वर्ष 2013 में बनकर तैयार हो गया था। हालांकि उस समय इस पार्क का विधिवत उद्घाटन भी होना था, मगर उस उद्घाटन में देरी के चलते आम लोगों के पार्क में आने-जाने से यह उद्घाटन आज तक न हो सका है। इसे बिना उद्घाटन ही लोगों के लिए सार्वजनिक कर दिया गया। मगर अब काउंसिल के रख-रखाव के अभाव में इस पार्क की सुंदरता को ग्रहण लग गया है।


कुछ समय पूर्व ही संभाला है चार्ज

रवि बांसल, ईओ, नगर काउंसिल श्री मुक्तसर साहिब

मैंने कुछ समय पूर्व ही चार्ज संभाला है। इसलिए इस संबंध में कुछ पता नहीं है। सोमवार तक पार्क का मुआयना कर इसकी डिटेल की जानकारी जुटा इसके रख-रखाव संबंधी जो उचित हो सकता होगा, वह कदम उठाएंगे।


टैंडर लगा रहे हैं, उद्घाटन भी करेंगे इस बार 

 हरपाल सिंह बेदी, अध्यक्ष, नगर काउंसिल श्री मुक्तसर साहिब

पार्क का दोबारा टैंडर लगाया जा रहा है। टैंडर लगते ही इसकी सभी खामियां दूर की जाएंगी और सौंदर्यीकरण का खास ध्यान दिया जाएगा। पार्क को इस बार विधिवत ढंग से उद्घाटन कर ही शहरवासियों को समर्पित किया जाएगा।



Tags

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.