हड़ताल से सार्वजनिक बैंकों में सामान्य कामकाज प्रभावित होने की आशंका

 निजी क्षेत्र के बैंको में कामकाज सामान्य रहने की संभावना

देश भर में बैंककर्मियों की 28 फरवरी मंगलवार को प्रस्तावित हड़ताल से सार्वजनिक बैंकों में सामान्य कामकाज प्रभावित होना स्वाभाविक है। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) की अगुवाई में बैंककर्मियों की यूनियनों ने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है।
एसबीआई, पीएनबी व बैंक आफ बड़ौदा सहित ज्यादातर बैंकों ने प्रस्तावित हड़ताल के बारे में अपने ग्राहकों को सूचित किया है और कहा है कि हड़ताल हुई तो उनकी शाखाओं व कार्यालयों में कामकाज प्रभावित होगा। देश में 27 सार्वजनिक बैंकों का कुल कारोबार में लगभग 75 प्रतिशत हिस्सा है। हालांकि निजी क्षेत्र के आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक तथा कोटक महिंद्रा बैंक में कामकाज सामान्य रहने की संभावना है। सिर्फ चेक क्लियरेंस का काम प्रभावित हो सकता है। यूएफबीयू नौ प्रमुख यूनियनों का शीर्ष संघ है लेकिन भारतीय मजदूर संघ से संबद्ध नेशनल आर्गेनाइजेशन आफ बैंक वर्कर्स तथा नेशनल आर्गेनाइजेशन आफ बैंक आफिसर्स इस हड़ताल में भाग नहीं ले रहा। आल इंडिया बैंक एम्पलाइज एसोसिएशन (एआईबीईए) के महासचिव सी एच वेंकेटचलम ने कहा कि 21 फरवरी को मुख्य श्रम आयुक्त के यहां हुई सुलह वार्ता विफल रही बैंक प्रबंधन की अगुवाई कर रहे इंडियन बैंक्स एसोसिएशन ने मांगों पर शर्तों पर सहमति नहीं जताई। उन्होंने कहा कि यूनियनों की मांगों को कोई समाधान नहीं निकल रहा है। इसलिए यूएफबीयू ने 28 फरवरी को हड़ताल पर जाने का फैसला किया है।

Tags

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.