केवल दो दिनों में 181 हैल्प लाईन पर 240 सूचनाएं प्राप्त - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

POLL- PM KON ?

Friday, March 31, 2017

केवल दो दिनों में 181 हैल्प लाईन पर 240 सूचनाएं प्राप्त

पंजाब में नशों के मामले में कुल 497 गिरफतार

मुख्यमंत्री द्वारा पुलिस कर्मचारियों व अन्य एंजेसियों को नशों विरूद्ध अभियान और तेज करने के निर्देश

नई दिल्ली, 31 मार्च:
पंजाब पुलिस को नशों के संबध में पिछले केवल दो दिनों में 181 नम्बर हैल्प लाईन पर नशों के संबध में 240 जानकारियां मिली है इस संबध में अब तक लगभग 500 गिरफतारियां की गई है।
आज यहां पत्रकारों से बातचीत करते हुये मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने कहा कि उनकी सरकार द्वारा शुरू की नशा विरोधी मुहिम के अच्छे परिणाम निकलने लगे है और विशेष टास्क फोर्स के मुख्य हरप्रीत सिंह द्वारा शुक्रवार को पद संभाल लेने के बाद इस मुहिम को और प्रोत्साहन मिलेगा।
बादल सरकार के शासन दौरान नकारा की 24 घंटे चलने वाली हैल्पलाईन के सफलतापूर्ण पुन: शुरू होने पर खुशी का प्रगटावा करते हुये कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने कहा कि उन्होने पुलिस व खुफिया एंजेसियों को आगामी दिनों दौरान नशों विरूद्ध अभियान ओर तेज करने व इस संबध में आम लोगों की सहायता लेने के लिए निर्देश दिये है ताकि राज्य से चार सप्ताह में नशे का सफाया करने के लक्ष्य को प्राप्त किया जा सके। सरकार ने आश्वान दिलाया था कि नशों विरूद्ध सूचना देने वाले प्रत्येक व्यक्ति की पहचान को गुप्त रखा जाएगा। उन्होने कहा कि इससे आम लोगों में विश्वास की भावना पैदा हुई है और वह बिना किसी डर से सूचना देने के लिए आगे आ रहे है।
          उन्होने कहा कि प्राप्त होने वाली प्रत्येक सूचना की जांच की जा रही है और इनकी पुष्टि होने के बाद दोषियों विरूद्ध कड़ी कार्यवाही शुरू की जाएगी। उन्होने बताया कि अधिकतर  सूचनाएं नशों की बिक्री वाले अडडो पर नशों के व्यापर में शामिल लोगों के बारे में मिल रही है। मुख्यमँत्री ने पुन: दोहराया कि नशों विरूद्ध मुहिम मेे लगी पुलिस व अन्य सभी एंजेसियों द्वारा नशे का प्रयोग करने वालों को परेशान नही किया जाएगा।
          वीआईपी की सुरक्षा के प्रश्र पर मुख्यमंत्री ने अतिरिक्त कार्यो में लगी सुरक्षा को वापिस बुलाने की अपनी वचनबद्धता दोहराई। उन्होने कहा कि पुलिस का कार्य लोगों की सुरक्षा करना है यह राजनीतिक नेताओं के रूतबे के चिंह के लिए नही बनी है।
नशों के संबध में आकड़े उपलब्ध करवाते हुये आज यहां मुख्यमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि 16 मार्च से 29 मार्च तक नशें के 497 व्यापारियों को गिरफतार किया गया है जबकि एनडीपीएस एक्ट अधीन 449 केस दर्ज किये गये है।
इस समय दौरान पकड़े गये नशो की जानकारी देते हुये प्रवक्ता ने बताया कि इन गिरफतार किये व्यक्तियों से 4.034 किलोग्राम हेरोईन व 0.605 किलोग्राम स्मैक प्राप्त की गई है। इस दौरान 2.22 किलोग्राम चरस, 24.46 किलोग्राम अफीम, 715.31 किलोग्राम चूरापोस्त व 1.879 किलोग्राम भांग भी पकड़ी गई है पुलिस ने 12.519 किलोग्राम नशीला पाऊडर , 1576 टीके, 111893 गालियां/कैप्सूल, 72.78 किलो गाजा व 133 शशियां सिरप भी पकड़ी है।
राज्य में नशों की बुराई से निपटने के लिए विभिंन एंजेसियों द्वारा कार्यवाही शुरू की गई है सीआईए व एंटीनारकोटिक्स सैल  ईकाईयों की सहायता से एसएचओ स्तर की टीमें प्रत्येक जिले में बनाई गई है ताकि राज्य से चार सप्ताह में नशों के खात्मे के सरकार के लक्ष्य को पूरा किया जा सके। राज्य का विशेष आपरेशन सैल (एसएसओपी )भी इस मुहिम में शामिल है और विभिंन पुलिस व खुफिया एंजेसियों को नशा विरोधी मुहिम में सिविल प्रशासन भी पूरी सहायता दे रहा है।
मुख्यमंत्री ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो , डायरैक्टोरेट आफ रैवेन्यू इंटैलीजैंस और कस्टम विभाग जैसी केन्द्रीय एंजेसियों के साथ तालमेल करने के लिए भी राज्य एंजेसियों को निर्देश दिये है ताकि देश के अन्य हिस्सों व सीमापार से नशों की सप्लाई व तस्करी को रोका जा सके।

No comments:

Post a Comment