चंडीगढ़,


कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी व पूर्व प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह सहित वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं का दल पंजाब के नए मुख्यमंत्री के रूप में कैप्टन अमरेन्द्र सिंह के शपथ ग्रहण समारोह की शोभा बढ़ाएगा। कैप्टन अमरेन्द्र सहित उनकी कैबिनेट के 9 मंत्रियों, कुल दस लोगों को यहां राज भवन में सुबह 10 बजे पंजाब के राज्यपाल वी.पी सिंह बदनौर द्वारा पद की शपथ दिलाई जाएगी। इस अवसर पर राहुल व डा. सिंह के अलावा, पूर्व केन्द्रीय मंत्री आनंद शर्मा, कपिल सिब्बल, अश्विनी कुमार व राजीव शुक्ला, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भुपेन्द्र सिंह हुड्डा, राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व ए.आई.सी.सी सचिव इंचार्ज पंजाब मामले आशा कुमारी समारोह में शामिल हो सकते हैं। यह एक साधारण व कम खर्चीला कार्यक्रम होगा, क्योंकि कैप्टन अमरेन्द्र ने राज्य की बदहाल वित्तीय हालत के मद्देनजर दिखावे पर ज्यादा न खर्च करने का फैसला किया है। राज्य के भावी मुख्यमंत्री ने पार्टी के सभी विधायकों व अन्यों से भी महंगे जश्र न मनाने और इस समारोह को सादा रखने को कहा है, ताकि पहले से कर्ज के बोझ तले दबे सरकारी खजाने पर अधिक बोझ न पड़े। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व कांग्रेस विधायक दल के नेता  कैप्टन अमरेन्द्र ने कहा कि उनकी सरकार की प्राथमिकता अकाली-भाजपा शासन में पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी राज्य की अर्थव्यवस्था को हर मुमकिन कदम उपाय व अलग से प्रयत्न करके दोबारा पटरी पर लाना रहेगा।
मनप्रीत बादल को दोबारा वित्त मंत्री बनाना तय है। कैप्टन अमरिंदर सिंह पहले भी उन्हें अपनी सरकार का वित्तमंत्री घोषित कर चुके हैं। मंगलवार को राहुल गांधी से मुलाकात के दौरान कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी कैबिनेट की लिस्ट राहुल गांधी के समक्ष पेश की, जिस पर उनकी मंजूरी भी मिल गई है। अरुणा चौधरी और रजिया सुल्ताना को राज्य मंत्री बनाया जा सकता है। - See more at: http://www.jagran.com/punjab/chandigarh-capt-amarinder-singh-will-swear-with-nine-ministers-including-sidhu-15681352.html?src=PL-PN-PAGE#sthash.igpwK39D.dpuf

वरिष्ठता सूची में दूसरे नंबर पर रहेंगे सिद्धू



 शपथ ग्रहण समारोह सुबह 11.30 बजे राजभवन में होगा।अमरिंदर सिंह शुरुआत में 9 मंत्रियों को सरकार में शामिल कर सकते हैं। बाद में मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा। राज्य में अधिकतम 18 मंत्री बनाये जा सकते हैं। नवजोत सिंह सिद्धू डिप्टी सीएम नहीं होंगे। चार बार सांसद रहने के कारण सिद्धू वरिष्ठता सूची में दूसरे नंबर पर रहेंगे।


मनप्रीत बादल को दोबारा 
वित्त मंत्री बनाना तय है। 
कैप्टन अमरिंदर सिंह पहले
भी उन्हें अपनी सरकार का 
वित्तमंत्री घोषित कर चुके हैं। 
मंगलवार को राहुल गांधी से 
मुलाकात के दौरान कैप्टन 
अमरिंदर सिंह ने अपनी
 कैबिनेट की लिस्ट राहुल 
गांधी के समक्ष पेश की, जिस 
पर उनकी मंजूरी भी मिल 
गई है। अरुणा चौधरी और 
रजिया सुल्ताना को राज्य 
मंत्री बनाया जा सकता है।
छह बार विधानसभा चुनाव जीत चुके पटियाला देहाती के ब्रह्म मोहिंदरा तीसरे स्थान पर शपथ लेंगे। पार्टी सूत्रों के अनुसार कैप्टन ने अपनी पहली कैबिनेट में जातीय समीकरण का भी ध्यान रखा है, जिसमें कैप्टन अमरिंदर सिंह को छोड़ कर चार जट सिख होंगे व एक हिंदू चेहरा होगा। तीन दलित मंत्री के अलावा एक अल्पसंख्यक समुदाय से भी होगा। श्री आनंदपुर साहिब से आने वाले राणा केपी का नाम स्पीकर पद के लिए फाइनल हो गया है। राहुल गांधी के साथ प्रियंका गांधी वाड्रा भी सिद्धू की सरकार में भूमिका के पक्ष में हैं। मालूम हो कि सिद्धू को चुनाव के एन पहले कांग्रेस में शामिल कराने में प्रियंका ने खास भूमिका निभाई थी। सिद्धू को उपमुख्यमंत्री बनाने के बारे में पूछे जाने पर कैप्टन ने कहा कि इस पर वह कुछ नहीं कहेंगे। इस पर पार्टी हाईकमान फैसला लेगा |


शपथ ग्रहण समारोह सुबह 11.30 बजे राजभवन में होगा। अमरिंदर सिंह शुरुआत में 9 मंत्रियों को सरकार में शामिल कर सकते हैं। बाद में मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा। राज्य में अधिकतम 18 मंत्री बनाये जा सकते हैं।
नवजोत सिंह सिद्धू डिप्टी सीएम नहीं होंगे। चार बार सांसद रहने के कारण सिद्धू वरिष्ठता सूची में दूसरे नंबर पर रहेंगे। 
छह बार विधानसभा चुनाव जीत चुके पटियाला देहाती के ब्रह्म मोहिंदरा तीसरे स्थान पर शपथ लेंगे। पार्टी सूत्रों के अनुसार कैप्टन ने अपनी पहली कैबिनेट में जातीय समीकरण का भी ध्यान रखा है, जिसमें कैप्टन अमरिंदर सिंह को छोड़ कर चार जट सिख होंगे व एक हिंदू चेहरा होगा। तीन दलित मंत्री के अलावा एक अल्पसंख्यक समुदाय से भी होगा। श्री आनंदपुर साहिब से आने वाले राणा केपी का नाम स्पीकर पद के लिए फाइनल हो गया है।
राहुल गांधी के साथ प्रियंका गांधी वाड्रा भी सिद्धू की सरकार में भूमिका के पक्ष में हैं। मालूम हो कि सिद्धू को चुनाव के एेन पहले कांग्रेस में शामिल कराने में प्रियंका ने खास भूमिका निभाई थी। सिद्धू को उपमुख्यमंत्री बनाने के बारे में पूछे जाने पर कैप्टन ने कहा कि इस पर वह कुछ नहीं कहेंगे। इस पर पार्टी हाईकमान फैसला लेगा।
- See more at: http://www.jagran.com/punjab/chandigarh-capt-amarinder-singh-will-swear-with-nine-ministers-including-sidhu-15681352.html?src=PL-PN-PAGE#sthash.igpwK39D.dpuf

शपथ ग्रहण समारोह सुबह 11.30 बजे राजभवन में होगा। अमरिंदर सिंह शुरुआत में 9 मंत्रियों को सरकार में शामिल कर सकते हैं। बाद में मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा। राज्य में अधिकतम 18 मंत्री बनाये जा सकते हैं।
नवजोत सिंह सिद्धू डिप्टी सीएम नहीं होंगे। चार बार सांसद रहने के कारण सिद्धू वरिष्ठता सूची में दूसरे नंबर पर रहेंगे। 
छह बार विधानसभा चुनाव जीत चुके पटियाला देहाती के ब्रह्म मोहिंदरा तीसरे स्थान पर शपथ लेंगे। पार्टी सूत्रों के अनुसार कैप्टन ने अपनी पहली कैबिनेट में जातीय समीकरण का भी ध्यान रखा है, जिसमें कैप्टन अमरिंदर सिंह को छोड़ कर चार जट सिख होंगे व एक हिंदू चेहरा होगा। तीन दलित मंत्री के अलावा एक अल्पसंख्यक समुदाय से भी होगा। श्री आनंदपुर साहिब से आने वाले राणा केपी का नाम स्पीकर पद के लिए फाइनल हो गया है।
राहुल गांधी के साथ प्रियंका गांधी वाड्रा भी सिद्धू की सरकार में भूमिका के पक्ष में हैं। मालूम हो कि सिद्धू को चुनाव के एेन पहले कांग्रेस में शामिल कराने में प्रियंका ने खास भूमिका निभाई थी। सिद्धू को उपमुख्यमंत्री बनाने के बारे में पूछे जाने पर कैप्टन ने कहा कि इस पर वह कुछ नहीं कहेंगे। इस पर पार्टी हाईकमान फैसला लेगा।
- See more at: http://www.jagran.com/punjab/chandigarh-capt-amarinder-singh-will-swear-with-nine-ministers-including-sidhu-15681352.html?src=PL-PN-PAGE#sthash.igpwK39D.dpuf

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.