कहा जीत सिक्ख नेताओं की नहीं, बल्कि दिल्ली की सिक्ख संगत की है

नई दिल्ली

वार्ड नंबर नौ पंजाबी बाग से शिरोमणि अकाली दल के उम्मीदवार और दिल्ली सिक्ख गुरूद्वारा मैनेजमेंट कमेटी के महासचिव मनजिंदर सिंह सिरसा ने दिल्ली कमेटी की चुनावों में मिली शानदार जीत के लिए पंजाबी बाग हल्के की सिक्ख संगत को धन्यवाद दिया है। उन्होंने कहा है कि संगत ने उन्हें दूसरी बार सिक्ख संगत की सेवा का मौका प्रदान किया हैं।
 गौरतलब है कि दिल्ली सिक्ख गुरूद्वारा मैनेजमेंट कमेटी चुनावों में सिरसा ने शिरोमणि अकाली दल दिल्ली के उम्मीदवार परमजीत सिंह सरना को ४९७ मतों से पराजित किया है। इन चुनावों में सिरसा ने २२१५ मत हासिल किए। जबकि उनके प्रतिद्वंदी परमजीत सिंह सरना १७१८ मत हासिल कर यह चुनाव हार गए हैं। बुधवार को दिल्ली कमेटी के चुनाव परिणाम आने के बाद सिरसा ने सबसे पहले गुरूद्वारा टिकाणा साहिब पहुंच कर श्री गुरू ग्रंथ साहिब के चरणों में शीश नवा कर आर्शीवाद लिया। इसके बाद उन्होंने अपने हल्के का धन्यवादी दौरा किया। इस मौके पर मीडिया के साथ बातचीत करते हुए सिरसा ने कहा कि सिक्ख संगत ने अपना फैसला सिक्ख पंथ के उन सच्चे पहरेदारों के हक में सुनाया जो पूरी श्रद्धा और लगन से पंथ की सेवा कर रहे हैं। उन्होंने भारी समर्थन देने के लिए सिक्ख संगत को धन्यवाद दिया। अपना वादे को दोहराते हुए सिरसा ने कहा कि दिल्ली कमेटी के कामकाज को पारदर्शी तरीके से चलाया जाएगा और सिक्ख भाईचारे के कल्याण के लिए नई योजनाएं तैयार की जाएंगी।
सिरसा ने कहा कि यह जीत सिक्ख नेताओं की नहीं है। बल्कि यह जीत दिल्ली की सिक्ख संगत की है। चुनाव परिणामों ने स्पष्ट कर दिया है कि दिल्ली की संगत सिक्खों का कत्लेआम करने वाले लोगों के साथ प्रेम भाव रखने वालों को गुरूद्वारों से दूर रखना चाहती है।



Tags

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.