Type Here to Get Search Results !

सात साल पहले दे दी गोद, अब बेटी के प्रति जाग उठी ममता

गोद लेने वाले माता पिता के साथ ही रहना चाहती है मासूम बच्ची  

दोनों परिवारों में बढा विवाद पहुंचा बाल सुरक्षा विभाग के पास

श्री मुक्तसर साहिब

वालंटियर फार सोशल जस्टिस के पास पहुंचे बच्ची के परिवार वाले
गुजर बसर कठिन होने के चलते सात साल पहले ठुकरा कर किसी को गोद दे देने वाले एक दंपति की अब अपनी बेटी के प्रति फिर से ममता अंगड़ाइयां लेने लगी है तथा अब वह फिर से अपनी बच्ची को वापस लेना चाहते हैं। उधर दुनियादारी से अंजान मासूम बच्ची सात साल से अपने पास रखते आ रहे माता पिता के साथ ही रहना चाहती है। दोनों परिवारों के बीच हाथापाई होने तथा तनाव बढऩे के बाद मामला बाल सुरक्षा विभाग के पास पहुंच गया है।
 बुधवार को उक्त मामला उस समय गरमा गया, जब बच्ची को जन्म देने वाले परिवार ने कोटकपूरा निवासी गोद लेने वाले परिवार को बहाने से बुलाकर अपनी बेटी वापस लेने की जिद शुरु कर दी। इस बीच ही दोनों पक्षों के बात हाथापाई तक पहुंच गई तथा विवाद बढऩे पर पहुंचे वीएसजे (वालंटियर फार सोशल जस्टिस) ने यह मामला बाल सुरक्षा विभाग के हवाले कर दिया। जहां पर पूरी जांच के बाद ही आगामी कार्रवाई की जाएगी। कोटकपूरा की खड्डियांवाली गली के निवासी वकील सिंह ने बताया कि वह लोगों के घरों में मेहनत मजदूरी कर अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं। वह अकसर ही मुक्तसर भी आते थे तथा उसने करीब सात वर्ष पहले 10 फरवरी 2008 को मुक्तसर के भाई महा सिंह दीवान हाल में बैठे एक परिवार से बच्ची गोद ली थी। जिसका नामकरन भी उनकी ओर से किया गया है। उसके अनुसार बच्ची का जन्म सर्टिफिकेट, आधार कार्ड आदि उनके नाम पर ही बने हुए हैं। इस समय बच्ची तीसरी कक्षा में पढ़ रही है। लेकिन आज जब वह बच्ची को लेकर भाई महा सिंह दीवान हाल में आए तो वहां पर वह परिवार पहले से ही मौजूद था। जिनसे बच्ची गोद ली थी। उसने बच्चो को उनसे छीनना चाहा। बच्ची न देने पर उक्त परिवार हाथापाई तक पहुंच गया। इस दौरान ही वीएसजे के कलस्टर कोआर्डिनेटर पिंकी रानी की टीम जोकि वहीं पर ही मौजूद थी ने मामला बाल सुरक्षा विभाग के पास पहुंचा दिया। बाल सुरक्षा अधिकारी शिवानी नागपाल ने बताया कि इस मामले की पूरी जांच के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.