गेट बंद कर छह बजे के बाद चल रहा था काम! - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Tuesday, March 28, 2017

गेट बंद कर छह बजे के बाद चल रहा था काम!

शराब के ठेकों की बोली के लिए पांच बजे तक डाली जा सकती थी पर्चियां

आनलाइन हुए काफी आवेदन पर एक पूर्व ठेकेदार अपने स्टाइल में करवा रहे थे काम


अपने पीए को जांच के लिए निर्देश देते डीसी डॉ. सुमीत जारंगल
श्री मुक्तसर साहिब
राज्य में सरकार बदल गई तथा सत्ता परिवर्तन के साथ सरकारी काम काज में भी काफी सुधार आए हैं, लेकिन आबकारी विभाग के रवैए में कोई बदलाव नहीं आया। हालांकि शराब के ठेकों की लाटरी सिस्टम से होने वाली बोली के लिए पर्ची डालने की सोमवार को अंतिम तिथि थी तथा नियामानुसार चाहे पांच बजे तक ही पर्चियां डाली जा सकती थीं, लेकिन यहां का आबकारी विभाग सब नियमों को ताक पर रख कर एक पुराने ठेकेदार से साढ़े छह बजे के बाद अपने दफ्तर के गेट बंद करके पर्चियां डलवा रहा था। सूचना पाकर पहुंचे मीडिया को देखते ही विभाग के कर्मचारी खिसकते नजीर आए जबकि डीसी सुमीत जारंगल ने जांच की बात कही है।
गौरतलब है कि ठेकों की लाटरी सिस्टम से होने वाली निलामी में लिए सोमवार शाम पांच बजे तक पर्चियां डाली जानी थी। हालांकि इसके लिए काफी लोगों ने आनलाईन अप्लाई किया था, लेकिन कुछ लोगों ने आनलाईन के बजाए दफ्तर में पहुंचकर पर्ची डाली। आनलाईन अपलाई करने वाले निश्चल कुमार सन्नी ने बताया कि वह सवा पांच बजे तक ईटीई कार्यालय में बैठे थे तथा उस तक वहां पर कोई भी पर्ची डालने के लिए नहीं आया था।
मीडिया के आने के बाद खिसकते आबकारी विभाग के अधिकारी
 वहां पर ईटीओ मधु भाटिया भी मौजूद थे। लेकिन जैसे ही वह वहां से आए तो दूसरी पक्ष वाले एक ठेकेदार पर्ची डालने के लिए पहुंच गए। शाम को छह बजे के बाद मीडिया कर्मी उक्त दफ्तर के 65 नंबर कमरे में पहुंचे तो गेट बंद करके पर्चियां डलवाई जा रही थी। जब पत्रकारों ने दरवाजा खुलवाया तो वहां पर मौजूद ईटीओ मधू भाटिया व ईटीसी इंद्रमोहन ग्रिम वहां से चलते बने। पर्चिायां डालने आई पार्टी का कहना था कि वह तो चार बजे से ही कार्यालय में मौजूद थे, यह तो कार्यालय वालों ने देरी की है। इसमें उनका कोई कसूर नहीं है। ईटीसी इंद्रमोहन ग्रिम का कहना था कि पर्ची पांच बजे से पहले डाली गई है और उनके पास करीब 29 पर्ची पहुंची है। उधर इस संबंध में डीसी डॉ. सुमीत जारंगल ने पर्चियां डालते समय किसी प्रशासनिक अधिकारी के मौजूद न होने के संबंध में कहा कि वह सुबह इसकी जांच करवाएंगे तथा यदि गलत हुआ है तो पर्ची रद्द कर दी जाएंगी। दूसरी तरफ एटीसी इंदर मोहन सिंह ने कहा कि वह पांच बजे दनफ्तर से आए थे तथा उक्त नत्था सिंह एंड पार्टी के पांच बजे पहुंच गई थी तथा नियमानुसार पांच बजे तक पहुंचने वाली पार्टी की पर्ची डलवाई जा सकती है। लेकिन गेट बंद करके पर्चियां डलवाने को उन्होंने गलत बताते हुए कहा कि वह इसकी जांच करवाकर आवश्यक कार्रवाई करेंगे।

No comments:

Post a Comment