श्री मुक्तसर साहिब

गांव रुपाणा स्थित सरकारी कन्या सीनियर सेकेंडरी स्कूल के कस्तूरबा गांधी होस्टल की वार्डन के कमरे में करीब डेढ़ वर्ष पहले युवक के पंखे से लटकते हुए मिले शव का मामला जहां प्रेम संबंधों का निकला, वहीं आत्महत्या की वजह उसके होस्टल में घुसने पर चौकीदार द्वारा देख लेना पाई गई। पुलिस ने गहन छानबीन के बाद इस मामले में वार्डन के अलावामरने वाले युवक को भी नामजद किया है।
जानकारी के अनुसार 9 जुलाई 2015 की रात को करीब साढ़े 11 बजे गांव रुपाणा के सुरिंदर सिंह का शव कस्तूरबा गांधी बालिका गर्ल्स होस्टल में वार्डन के कमरे में पंखे से लटकता हुआ मिला था। उस समय पुलिस ने 174 की कार्रवाई करते हए केस को बंद कर दिया था, लेकिन परिवार द्वारा जांच की मांग करते हुए पंजाब राज्य मानव अधिकार आयोग को भी लिखित शिकायत भेजकर इंसाफ की गुहार लगाई गई थी। जिसके बाद पुलिस की ओर से जांच की गई। जांच के दौरान पाया गया कि सुरिंदर सिंह के गर्ल्स होस्टल की वार्डन के साथ प्रेम संबंध था। वार्डन सुरिंदर सिंह को अकसर ही मिलने के लिए अपने होस्टल के कमरे में बुलाया करती थी। जिस दिन उसने आत्महत्या की थी उस दिन होस्टल के चौकीदार ने उसे वार्डन के कमरे में जाते हुए देख लिया था। किसी पुरुष को गर्ल्स होस्टल के कमरे में जाते देखने पर उसने गांव की पंचायत को मौके पर बुलाया और वार्डन के कमरे के अंदर से बंद दरवाजे को तोड़ा गया। इस दौरान सुरिंदर सिंह का शव कमरे में पंखे से लटकता हुआ पाया गया था। जांच दौरान पाया गया कि युवक ने उसे आते हुए देख लेने के भय के चलते आत्महत्या की। इस मामले की इनवेस्टीगेशन ब्यूरो आफ चंडीगढ़ की ओर से की गई। जांच के बाद 14 मार्च को तत्कालीन एसएसपी ध्रुमन एच निबले के आदेश पर होस्टल की वार्डन व उसके मृतक प्रेमी पर मामला दर्ज कर पुलिस ने वार्डन की तलाश शुरू कर दी है।


Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.