सज्जण कुमार और जगदीश टाइटलर अब जेल की हवा खाने के लिए तैयार हो जाएं : मनजिंदर सिंह सिरसा - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Saturday, March 04, 2017

सज्जण कुमार और जगदीश टाइटलर अब जेल की हवा खाने के लिए तैयार हो जाएं : मनजिंदर सिंह सिरसा


दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी 1984 के सिख विरोधी दंगें मामलों को अंजाम तक लेजाने तक लड़ाई जारी रखेगी

नई दिल्ली
 शिरोमणी अकाली दल के सीनियर नेता और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के महा सचिव मनजिंदर सिंह सिरसा ने आज कहा कि अब समय आ गया है जब कांग्रेस के नेता सज्जण कुमार और जगदीश टाइटलर को 1984 के सिख विरोधी दंगों के मामलों में उन के शामिल होने के लिए जेल की हवा खाने के लिए तैयार हो जाना चाहिए।
विशेष जांच टीम की तरफ से पंजाबी बाग के निवासी जसवंत सिंह और उनके सुपुत्र की 1984 के सिख विरोधी दंगों दौरान हत्या किए जाने के मामले में सज्जण कुमार से पूछ-ताछ किए जाने का स्वागत करते हुए श्री सिरसा ने कहा कि 33 सालों में यह पहली बार है जब न सिर्फ दिल्ली के सिख बल्कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सिख भाईचारा इस बात को देख रहा है कि ऐसी पूछ ताछ अब हो रही है जो बहुत पहले होनी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि इस के साथ दुनियां के सब से घिनौने नस्लकुशी के प्रयत्न वाले दंगों के मामलों में पीडि़तों को न्याय की आशा बंधी है।

श्री सिरसा ने कहा कि आज तक यह केस बार-बार हल नहीं किए जा सके थे क्योंकि दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान श्री परमजीत सिंह सरना और उन की जुंडली कांग्रेस के नेतृत्व वाली यू.पी.ए. सरकार के इशारे पर सज्जण कुमार और जगदीश टाइटलर की मदद कर रही थी। केंद्र में 10 साल तक यू. पी. ए. की सरकार रही और इन वर्षों में सरना और उन की टीम ने दिल्ली गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी में अपने रूतबे का आनंद उठाया है। उन्होंने कहा कि सरना भाइयों ने न सिर्फ सिख भाईचारे के हितों को अनदेखा किया बल्कि भाईचारे के साथ द्रोह कमाया और सज्जन कुमार को सिरोपा देकर सम्मानित करने के मामले पर भाईचारे को गुमराह करने का प्रयत्न किया। उन्होंने कहा कि हैरानी वाली बात है कि 33 सालों के लंबे अरसे के बाद जब सरना ने यह कबूल लिया कि वह सज्जण कुमार का सम्मान करते रहे हैं, तब भी उन्होंने सिखों के कातिलों के सम्मान के कारणों को लेकर सिख कौम को गुमराह करने का प्रयत्न किया।
दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के महा सचिव ने फिर दोहराया कि वह इन मामलों को इन के अंजाम तक लेजाने के लिए दृढ संकल्प हैं और वाहिगुरू जी की कृपा के साथ यह पहली बार है जब एन.डी.ए. के राज में कानून लागू करने वाली एजेंसियां और उन की टीमें इन कत्ल मामलों को हल करने के लिए संजीदगी के साथ काम कर रही हैं जो कि सरना भाइयों के गलत फैसलों की वजह से रहस्य बन गए थे। उन्होंने कहा कि यह पहली बार है जब जांच एजेंसियों ने न सिर्फ पुराने केस खोले हैं बल्कि ताजा एफ आई आरज भी विश्व के इस सबसे घिनौने नस्लकुशी के प्रयत्नों को लेकर दर्ज हो रही हैं जिस में किसी एक राजसी पार्टी की तरफ से किसी एक फिरके विशेष को खत्म करने के लिए सख्त प्रयत्न किए गए।
श्री सिरसा ने कहा कि दिल्ली की संगत और दुनियां भर में बैठे सिख बहुत शिद्दत के साथ उस दिन का इंतजार कर रहे हैं और अब समय भी आ गया है जब कांग्रेस के यह दोनों नेता सज्जण कुमार और जगदीश टाइटलर दिल्ली और केंद्र की कांग्रेस सरकारों की सरप्रस्ती में किए इस घिनौने अपराध में अपनी सीधी सम्मिलन बदले जेल जाएंगे।

No comments:

Post a Comment