कांग्रेस के शपथ ग्रहण समागम में ख़डे रहे आप के विधायक - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Thursday, March 16, 2017

कांग्रेस के शपथ ग्रहण समागम में ख़डे रहे आप के विधायक

बुरे प्रबंधों ने उनकी मुद्दों सम्बन्धित गंभीरता को किया जनतक -एच.एस. फूलका

-आप विधायकों को बैठने के लिए सीटें न देना पंजाब के वोटरों की तौहीन और कैप्टन अमरिन्दर सिंह के राजशाही सोच की झलक -सुखपाल खहरा

चंडीगड़, 16 मार्च 2017
    आम आदमी पार्टी ने नई सरकार के शपथ ग्रहण समागम दौरान आप के विधायकों के साथ सौतेली मां जैसा सलूक करने का तीखा नोटिस लेते इस पर हैरानी और दुख जाहिर किया। सरकारी तौर पर निमंत्रण मिलने के उपरांत राज भवन पहुंचे आप के विधायकों को बैठने के लिए स्थान भी नहीं दिया गया और वह पंडाल के अंत में खड़े रहे।

    चण्डीगढ़ में पत्रकारों के साथ बातचीत करते आप के सीनियर नेता और दाखा से विधायक एच.एस. फूलका और भुलथ से विधायक और चीफ विप्प सुखपाल सिंह खहरा ने कहा कि जनता द्वारा चुने गए आप के नुमाइंदों के बैठने के लिए कोई प्रबंध नहीं किया गया। फूलका ने कहा कि यह इतिहास में पहली बार हुआ है कि जब मुख्य मंत्री शपथ ले रहे थे और विरोधी पक्ष के मुख्य नेता अपने साथियों समेत पंडाल के अंत में खड़े थे।
    फूलका ने कहा कि आम आदमी पार्टी में कोई कुर्सी कल्चर नहीं है और वह किसी प्रकार का वीआईपी प्रबंध नहीं चाहते थे। आप हमेशा आम लोगों की तरह विचरने में विश्वास रखती है और सभी नेता इसी सोच के साथ संबंध रखते हैं। उन्होंने कहा कि विधायकों के बैठने का प्रबंध करना सरकार की जिम्मेदारी थी।
फूलका ने कहा कि आम आदमी पार्टी सकरात्मक विरोधी पक्ष की भूमिका निभाएगी और पंजाब के हितों के लिए कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ से लिए गए सकरात्मक फैसलों का स्वागत और समर्थन करेगी, यही संदेश देने के लिए आम आदमी पार्टी के विधायकों ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह के शपथ ग्रहण समागम में शामिल हुए थे, परंतु कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार ने गैर जिम्मेदारी वाला व्यवहार किया जो निंदनीय है।
    सुखपाल सिंह खहरा ने कहा कि शपथ समागम कांग्रेस के काम करने के संस्कृति को और कैप्टन अमरिन्दर सिंह की राजशाही सोच को दिखाती है। उन्होंने कहा कि आप के विधायक जनता द्वारा दिए फतवे को स्वीकृत करते समागम में शामिल हुए थे जब कि अकाली और भाजपा नेताओं ने इस से दूरी बनाई रखी। उन्होंने कहा कि आप विधायकों को सीट न देना पंजाब के लोगों की बेइज़्जती है।
    खहरा ने कहा कि कांग्रेस अपने राजशाही और जनता से दूरी बनाने के संस्कृति से बाहर नहीं आई है और पंजाब के लोग अब कैप्टन अमरिन्दर सिंह की इस सोच को स्वीकृत नहीं करेंगे। खहरा ने कहा कि यदि कांग्रेस एक समागम सही ढंग के साथ नहीं करवा सकती तो वह पंजाब को किस तरह चलाऐगी।
     भुलथ से विधायक खहरा ने कहा कि आम आदमी पार्टी कांग्रेस को लोगों के साथ किये वायदे जिनमें कि हर घर में एक रोजगार, किसानों के कजऱ्े माफ करने और पंजाब से नशा खत्म करना शामिल हैं को पूरा करन के लिए अपना सहयोग देगी। हम कांग्रेस सरकार के हर कार्य पर विधान सभा के अंदर और बाहर निगरानी रखेंगे और लोगों के साथ किये वायदे पूरे न करने की सूरत में सरकार के खिलाफ लोगों की आवाज भी उठाएंगे।
________________________________________________________________________

कुप्रबंधन के झूठे आरोपों से राज्यपाल के कार्यालय को नीचा दिखा रही है आप: पंजाब कांग्रेस 

आप नेतृत्व से जिम्मेदार व रचनात्मक विपक्ष के रूप में व्यवहार करने की अपील की

चंडीगढ़, 16 मार्च: 
पंजाब प्रदेश कांगे्रस कमेटी ने वीरवार सुबह शपथ ग्रहण समारोह में कुप्रबंधन संबंधी साफतौर पर झूठे आरोप लगाकर आम आदमी पार्टी द्वारा राज्यपाल कार्यालय को नीचा दिखाने की मनगढ़ंत व गलत कोशिश की निंदा की है। 
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता ने आप पंजाब के नेताओं द्वारा राज्यपाल कार्यालय की ओर से आयोजित समारोह का सही तरीके से प्रबंध न करने संबंधी लगाए आरोपों पर तेजी से प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए, कहा कि बौखलायी हुई आप पंजाब विधानसभा चुनावों में अपनी शर्मनाक हार को पचा नहीं पा रही है। इस क्रम में, आप निराशापूर्ण तरीके से राज्य की नव गठित कांग्रेस सरकार को झूठे व निराधार आरोपों के जरिए बदनाम करने की कोशिश कर रही है। इस संबंध में, प्रवक्ता ने खुलासा किया कि कार्यक्रम हेतु सारे प्रबंध राजभवन द्वारा किये गए थे और समारोह पूरा होने तक कांग्रेस सरकार ने शपथ ग्रहण भी नहीं की थी।
प्रवक्ता ने कहा कि आप नेतृत्व अपनी चुनावी हार को सच्चे दिल से स्वीकार करने और एक अच्छे विपक्ष की भूमिका निभाने की बजाय, कांग्रेस सरकार के शपथ लेने से पहले ही रुकावटें पैदा करने हेतु आतुर प्रतीत होता है और इसका खुलासा मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह व उनके मंत्रिमंडल के साथियों के शपथ ग्रहण समारोह में इनके व्यवहार से हो जाता है। 
उन्होंने कहा कि आप नेता अपनी आदत पर चलते हुए, अपने व्यवहार को लेकर कोई संविधानिक औचित्य की परवाह किए बगैर, एक बार फिर से लोगों का ध्यान खींचने हेतु नोटंकी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आप नेताओं के आरोपों के विपरीत पंजाब राज भवन में कोई समस्या या गड़बड़ी नहीं थी। उन्होंने कहा कि यदि ऐसा होता, तो वहां बड़ी तादात में मौजूद मीडिया इसे सबसे पहले उजागर करता।
यहां जारी बयान में, प्रवक्ता ने कहा कि आप द्वारा यह सारा ड्रामा लोगों को गुमराह करने हेतु रचा गया है, जो ये अपने पूरे चुनाव प्रचार के दौरान भी ऐसा करते रहे हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि पंजाब के लोग इनके झूठ के जाल में फंसने वाले नहीं हैं और उन्हें अब गुमराह नहीं किया जा सकता।
प्रवक्ता ने खुलासा किया कि आप ने संविधानिक अथॉरिटी की गरिमा को नीचा दिखाने की यह पहली कोशिश नहीं की है, बल्कि पार्टी के राष्ट्रीय कनवीनर अरविंद केजरीवाल ने चुनाव आयोग की विश्वसनियता पर सवाल उठाते हुए, एक गलत नींव रखी थी और चुनावों के दौरान वह कई अवसरों पर चुनाव आयोग से टकरा चुके हैं। इस दिशा में, नतीजों के बाद भी केजरीवाल ने साफतौर पर चुनावों में अपनी पार्टी की भारी हार को स्वीकार करने से इंकार कर दिया और ई.वी.एम में हेराफेरी संबंधी अपने निराधार आरोपों के साथ लगातार चुनाव आयोग की संविधानिक अथॉरिटी को चुनौती देते रहे हैं।
जिस पर, प्रवक्ता ने आप नेतृत्व से पंजाब के मुख्य विरोधी दल के रूप में अपने कद के मद्देनजर, समझदारी पूर्वक व्यवहार करने और राज्य के विकास को दिशा देने हेतु एक रचनात्मक भूमिका निभाने की अपील की है।

 

No comments:

Post a Comment