अंबाला से लुधियाना जा रही बस पुलिस ने बस रोकी तो , निकल भागे तीनों आरोपी  

पटियाला पुलिस ने पीछा कर तीनों को तीन पिस्तौल व जिंदा कारतूस के साथ दबोचा

पटियाला

पटियाला जिले में पड़ते थाना शंभू की पुलिस ने जीटी रोड पर की गई नाकाबंदी के दौरान एक निजी बस में सवार होकर आ रहे तीन लोगों को उस समय काबू कर लिया जब शक के आधार पर रुकवाई बस के रुकते ही तीन व्यक्ति निकल भागने का प्रयास करने लगे। पुलिस ने पीछा कर तीनों को तीन पिस्तौल व 10  जिंदा कारतूस के साथ काबू किया। पुलिस की उक्त कार्रवाई के दौरान अपने साथ सवार होकर आए लोगों से हथियार मिलने पर बस यात्री हक्के बक्के रह गए।
एसएसपी पटियाला डॉ. एस भूपती ने बताया कि थाना शंभू प्रभारी इंस्पेक्टर गुरचरन ङ्क्षसह गुप्त सूचना मिलने के चलते एसपी हरविंदर सिंह व डीएसपी घनौर गोबिंदर सिंह के निर्देशों पर पुलिस पार्टी सहित मुख्य हाईवे पर पिकट मोड़ संजरपुर में नाकाबंदी की हुई थी। इस दौरान पुलिस ने एक निजी कंपनी की बस को रोका तो बस के रुकते ही तीन व्यक्ति बस की पिछली खिडक़ी खोलकर निकल भागने का प्रयास करने लगे। पुलिस द्वारा पीछा कर उन्हें पकडऩे के बाद तलाशी ली तो तीनों के पास एक एक पिस्तौल व दस जिंदा कारतूस बरामद हुए। पुलिस ने पकड़े गए जगदीप ङ्क्षसह, लवप्रीत ङ्क्षसह वासी निहाल ङ्क्षसह वाला व हरप्रीत ङ्क्षसह वासी जिला मोगा को हिरासत में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी है।
पुलिस कस्टडी से छुड़ाना था हत्यारोपी
पुलिस पूछताछ में आरोपियों जगदीप सिंह, लवप्रीत सिंह व हरप्रीत सिंह ने माना कि सम्पत सिंह पुत्र राम चंद्र निवासी मकान नंबर 162 बी न्यू पुलिस लाईन चंडीगढ़ का साथी वरिन्दर प्रताप उर्फ काला पुत्र जोगिन्द्र सिंह निवासी यमना नगर हरियाणा जो कि बराड़ा में हुई हत्या के केस में अंबाला जेल में बंद है। उक्त लोग उसे पेशी या उपचार के लिए ले जाते समय पुलिस पार्टी पर हमला कर के भगाने की फिराक में थे।


Tags , ,

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.