नई दिल्ली 

करीब नौ हजार करोड़ रूपये का बैंक लोन लेकर चूना लगाकर नो दो च्यारह हुए शराब के कारोबारी विजय माल्या को लंदन लंदन में गिरफ्तार किया गया है। माल्या के खिलाफ कई एजेंसियों ने समन जारी किए हुए थे। गौरतबल है कि विजय माल्या के अचानक देश छोडऩे के बाद भारत सरकार ने ब्रिटेन से विजय माल्या के प्रत्यर्पण की मांग की थी जिसे ब्रिटेन की सरकार ने मंजूर कर लिया था। शीर्ष सूत्रों के मुताबिक, कहा जा रहा है कि विजय माल्या की गिरफ्तार की पृष्ठभूमि उस समय ही तैयार हो गई थी जब वित्त मंत्री अरूण जेटली ने फरवरी महीने में लंदन का दौरा किया था। इससे पहले, वित्त मंत्रालय की तरफ से आग्रह के बाद विदेश मंत्रालय द्वारा विजय माल्या का पासपोर्ट भी रद्द कर दिया गया था।

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.