बिट्टू माखा, मानसा

चाहे पंजाब सरकार ने किसानों के कर्ज की वसूली को लेकर रोक लगाई हुई है, लेकिन इसके बावजूद किसानो को अपनी आर्थिक तंगी के आगे मजबूर होकर मौत को गले लगाने का सिलसिला जारी है। ताजा घटना जिला मानसा के गांव सहने वाली की है जहां 25 वर्षीय किसान ने जहर खाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। मृतक किसान करीब 5 लाख रूपये का कर्जाई था तथा उसके पास महज 3 एकड़ जमीन थी। पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है।
उक्त 25 वर्षीय किसान कुलदीप सिंह ने आर्थिक परेशानी ना झेलते हुए जहर खाकर आत्महत्या कर ली। मृतक कुलदीप सिंह के पिता का साया भी कुछ वर्ष पहले उठ गया था जिसके चलते परिवार चलाने की समूची जिम्मेदारी अब कुलदीप पर ही थी। कुलदीप ने जिदंगी को पटरी पर लाने के हर संभव प्रयास के बावजूद सफल नहीं हुआ। गांव वासी व किसान नेताओं ने बताया कि कुलदीप बहुत मेहनती था लेकिन कर्ज ने उसको मरने के लिए विवश कर दिया किसान नेता राम सिंह ने किसानों की आर्थिकता के लिए सरकारों को जिम्मेदार ठहराते हुए परिवार का पूरा कर्ज माफ करने व परिवार की योज्य आर्थिक मदद की मांग की।

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.