नाड़ जलाने पर पाबंदी को तानासाही हुकम करार देते हुए लगाई खेतों में नाड़ को आग - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Sunday, April 30, 2017

नाड़ जलाने पर पाबंदी को तानासाही हुकम करार देते हुए लगाई खेतों में नाड़ को आग

मानसा

 सरकार द्वारा जारी किए गए फसल की कटाई के बाद नाड़ को आग लगाने के प्रितबंध को तानासाही हुकम करार देकर उक्त आदेशों को चुनौती देते हुए मानसा के एक गांव में किसानों ने एकित्रत होकर भारतीय किसान यूनियन एकता डकौंदा के नेतृत्व में अपने खेतों में बचे हुए नाड़ को आग के हवाले किया।
 गौरतलब है कि प्रदूषण व जमीन की उपजाऊ शक्ति प्रभावित होने का हवाला देते हुए सरकार ने नाड़ जलाने पर प्रतिबंध लगाते हुए ऐसा करने वाले किसानों के खिलाफ मामला दर्ज करने तथा जुर्माना करने का आदेश जारी किया हुआ है। रविवार को उक्त आदेशों को दरिकनार करते हुए जिला मानसा के कस्बा भीखी के गांव अकिलयां में किसानों ने उक्त फैसला लिया तथा सरकार के खिलाफ बगावत करते हुए किसानों ने गांव में अपने खेतों में गेहूं की कटाई के बाद बची नाड़ को आग लगा दी।

">  
इस मौके गांव वासियों के साथ भाकियू डकौंदा के ब्लाक प्रधान राज सिंह अकिलया, महिंदर सिहं भैणीबाघा, इकबाल सिंह मानसा, केवल सिंह माखा व देव गिल भी मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment