दिल्‍ली 
दिल्ली एमसीडी चुनाव के नतीजे सामने आने लगे है। तीनों नगर निगमों (दक्षिणी दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, उत्तरी दिल्ली) में मोदी लहर साफ दिखाई दे रही है। बीजेपी ने आप और कांग्रेस को काफी पीछे छोड़ते हुए निर्णायक बढ़त हासिल कर ली है। आंकड़ों के मुताबिक, 270 सीटों में बीजेपी 183 पर , आम आदमी पार्टी 41 जबकि कांग्रेस 35 सीटों पर आगे है।    
राज्य निर्वाचन आयुक्त एसके श्रीवास्तव ने बताया कि तय कार्ययोजना के मुताबिक मतगणना सुबह 8.00 बजे शुरू हुई। सीलबंद ईवीएम मतगणना स्थलों पर पहुंचा दी गई। इसके लिए 35 मतगणना केन्द्र बनाए गए हैं। एमसीडी में 272 सीटें हैं लेकिन दो जगहों पर उम्मीदवारों के निधन के चलते 270 सीटों पर चुनाव हुए थे। रविवार (23 अप्रैल) को 53.58 प्रतिशत मतदान हुआ था जो कि साल 2012 के चुनाव में हुए मतदान से थोड़ा ज्यादा है।

मोदी लहर नहीं ये है ईवीएम लहर -  गोपाल राय

दिल्ली एमसीडी पर शानदार जीत के साथ भाजपा ने अपना कब्जा कर लिया है और आम आदमी पार्टी और कांग्रेस की हार हुई है। वहीं हार से हताश आम आदमी पार्टी के नेताओं ने ईवीएम पर अपनी हार का ठीकरा फोड़ा है। आम आदमी पार्टी में ईवीएम को लेकर पार्टी दो फाड़ होती दिख रही है। पार्टी कुछ नेता ईवीएम पर दोष जड़ रहे है वहीं दूसरी तरफ कुछ नेता ईवीएम के फैसले को ठीक बता रहे है। 
आप नेता गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली चुनावों के जो परिणाम आएं हैं, पिछले 10 साल एमसीडी में बीजेपी रही है और भ्रष्टाचार किया है। लेकिन उसके बाद फिर भी जो जीत मिली है, यह मोदी लहर नहीं है, वह ईवीएम की लहर है। गोपाल राय ने कहा कि जो लहर विधानसभा चुनाव में ईवीएम की लहर चली थी वही लहर यहां भी चली है। 

 गड़बड़ी से हुई लोकतंत्र की हत्‍या - आशुतोष 

आप नेता आशुतोष ने कहा कि जिस तरह के नतीजे आए हैं, उससे साफ है कि लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। हार के लिए आशुतोष ने ईवीएम में गड़बड़ी बताया है। वहीं आप नेता व पंजाब में संगरूर से सांसद भगवंत मान के बोल पार्टी नेताओं से कुछ अलग ही है।

 ईवीएम में गलती ढूंढने का कोई मतलब नहीं -भगवंत मान 

 भगवंत मान का कहना है कि पार्टी नेतृत्व एक मोहल्ला क्रिकेट टीम की तरह व्यवहार कर रही है. आप ने पंजाब में एक ऐतिहासिक भूल की है। मान ने ईवीएम में गड़बड़ी का बचाव करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आलोचना भी की। उन्होंने कहा ईवीएम में गलती ढूंढने का कोई मतलब नहीं, उन्होंने कहा कि हार के कारणों की जांच के लिए पार्टी को सबसे पहले अपने अंदर की कमियां को देखना चाहिए।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.