अकाली कार्यकर्ता की पुलिस के साथ हाथापाई में मौत - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Tuesday, April 11, 2017

अकाली कार्यकर्ता की पुलिस के साथ हाथापाई में मौत

 
गुरदेव सिंह
अवैध शराब के शक में गांव तरमाला में छापामारी करने आई थी पुलिस

लंबी (श्री मुक्तसर साहिब)

 गांव तरमाला में अवैध शराब के शक में छापामारी के लिए पहुंची पुलिस के उस समय हाथ पांव फूल गए जब घर में मौजूद एक व्यक्ति हाथापाई के दौरान गिरकर बेहोश हो गया। आनन फानन में पुलिस कर्मी घटनास्थल से रफूचक्कर हो गए जबकि उक्त बेहोश हुए व्यक्ति को अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक अकाली दल का कार्यकर्ता था जिसके चलते सूचना पाकर पहुंचे पार्टी कार्यकर्ताओं ने घटना के लिए पुलिस प्रशासन को जिम्मेदार ठहराते हुए संघर्ष की चेतावनी दी।

जानकारी के अनुसार पुलिस चौकी भाईका केरा के प्रभारी गुरदीप सिंह पांच अन्य पुलिस कर्मियों सहित मंगलवार को दोपकर बाद गांव तरमाला में करीब 62 वर्षीय गुरदेव सिंह के घर पहुंचे। अवैध शराब के शक में घर पहुंची पुलिस द्वारा तलाशी अभियान शुरु करने पर गुरदेव सिंह ने इसकी वजह जानने के लिए पूछताछ करते हुए विरोध जताया तो पुलिस के साथ उसकी हाथापाई हो गई तथा कथित तौर पर पुलिस कर्मी ने उसे थप्पड़ जड़ दिया। इस दौरान गुरदेव को बेटा मनजीत सिंह व भाई सुखवंत सिंह बीच बचाव करने आए। हाथापाई के दौरान ही धक्का लग जाने से गुरदेव का सिर सीढिय़ों से जा टकराया तथा वह बेहोश हो गया, जिसे देखकर पुलिस कर्मी निकल लिए। सुखवंत सिंह के अनुसार उन्होंने पुलिस कर्मियों का पीछा भी किया, वह पकडऩे में असफल रहे। आनन फानन में गुरदेव सिंह को गांव खुंबण के अस्पताल में ले जाने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना का पता लगने पर शिरोमणि अकाली दल के जिला अध्यक्ष दयाल सिंह कोलियांवाली, तेजिंदर सिंह मिड््डूृखेड़ा व पप्पी तरमाला सहित अन्य अकाली कार्यकर्ता भी पहुंच गए। सूचना मिलने पर एसपी मलोट भागीरथ मीना व एसडीएम विशेष सारंगल भी मौके पर पहुंचे तथा पड़ताल शुरु की। उधर अकाली नेता तेजिंदर सिंह मिड्डूखेड़ा व मृतक के भाई सुखवंत सिंह ने पुलिस पर मारपीट का आरोप लगाते हुए गुरदेव की मौत का जिम्मेदार ठहराया। उनके अनुसार गुरदेव शराब के अवैध कारोबार जैसा कोई धंधा नहीं करता था। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि पुलिस ने मामले में उचित कार्रवाई नहीं की तो संघर्ष शुरु किया जाएगा देर शाम को एसएसपी बलजोत सिंह राठौड़ भी मौके पर पहुंच गए तथा कहा कि फिलहाल पुलिस द्वारा मामले की जांच की जा रही है।