पंजाब राज्यपाल को मिला आम आदमी पार्टी के विधायकों का वफद - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

POLL- PM KON ?

Thursday, May 11, 2017

पंजाब राज्यपाल को मिला आम आदमी पार्टी के विधायकों का वफद


लोग व किसान विरोधी मुद्दों सहित निजी स्कूलों की मनमानी, किसान आत्म हत्याएं, चिट्ट-फंड घोटाले और बिगड़ती कानून व्यवस्था के मुद्दों पर की चर्चा

चंडीगढ़,  
आम आदमी पार्टी के विधायकों के वफद ने आज विधान सभा में विरोधी पक्ष के नेता एडवोकेट एच.एस फूलका के नेतृत्व में पंजाब के राज्यपाल वी.पी सिंह बदनौर के साथ पंजाब राज भवन में मुलाकात की और लोगों से सम्बन्धित मुद्दों पर चर्चा की।
    वफद ने पंजाब में प्राईवेट स्कूलों द्वारा सरकार और हाई कोर्ट के नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए बच्चों से भारी फीसें वसूलने, किसानों के लोन माफ करके उनको राहत देने, पर्ल, कराउून आदि कंपनियों द्वारा लोगों के साथ की गई ठगी और पंजाब में कानून और न्याय की बिगड़ती हालत जैसे मुद्दे उठाए।
    पत्रकारों को संबोधन करते फूलका ने कहा कि सूबे भर में प्राईवेट स्कूल दाखिला, फिर दाखिला, किताबें और वर्दियों के नाम पर विद्यार्थियों से भारी फीसें वसूल रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह स्कूल माननीय हाई कोर्ट और पंजाब सरकार द्वारा निर्धारित माप दंडों को नजर-अंदाज कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में किताबें और वर्दियां मुफ्त दी जाती हैं और प्राईवेट स्कूलों का यह कदम सीधे तौर पर राइट टू एजुकेशन एक्ट की उलंघना कर रहा है।
    राज्य में मर रहे किसानों के मुद्दे पर बोलते हुए फूलका ने कहा कि पंजाब भर में किसान इस समय मंदी आर्थिक के दौर से गुजर रहे हैं। जिस कारण रोजाना अनेकों किसान आत्म हत्या करने के लिए मजबूर हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने अपने चुनाव मनौरथ पत्र में सरकार बनने के बाद किसानों के कर्जे माफ करने की बात कही थी परंतु अभी तक इस सम्बन्धित कोई कदम नहीं उठाया गया। उन्होंने कहा कि यह समय की मुख्य मांग है कि किसानों के कर्जे माफ करके उनको राहत प्रदान की जाए।  

राज्य में चिट्ट फंड कंपनियों द्वारा लोगों से पैसे ठग कर भागने का मुद्दा उठाते फूलका ने कहा कि पर्ल, कराउून और अन्य अनेकों कंपनियों ने जाली कंपनियां बना कर उनके नामों पर बेनामी जायदादें खरदी हैं, अब सरकार की यह ड्युूटी बनती है कि ऐसी जायदादों को बेच कर पीडि़तों को उन का पैसा वापिस दिलाया जाए। सरकार यह निश्चित करे कि भविष्य में ऐसी कोई लूट न हो सके जिससे लोगों की मेहनत से बनाया पैसा बेकार न हो सके। उन्होंने कहा कि ज्ञान सागर इंस्टीच्यूट के मालिक पर्ल कंपनी को विद्यार्थियों के भविष्य के साथ खेलने के लिए जिम्मेदार ठहराना जाना चाहिए। सरकार तुरंत इन विद्यार्थियों के भविष्य के बारे में सोचते हुए कोई हल निकाले।
    राज्य में कानून और न्याय व्यवस्था की बिगड़ती हालत संबंधी बोलते फूलका ने कहा कि पंजाब में कानून की व्यवस्था बद से बदतर हो रही है।
उन्होंने कहा कि बिगड़ती कानून व्यवस्था का मुख्य कारण राज्य की सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस के नेताओं द्वारा नाजायज धंधे और गुंडा टैकस को हथिया कर कानून विरोधी कार्य करना है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार दौरान जो नाजायज धंधे अकाली दल के नेता कर रहे थे सरकार बदली के बाद वही काम कांग्रेसी नेता कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार इन नाजायज गतिविधियों को रोकने की जगह कांग्रेसी नेताओं को साथ दे रही है। 


No comments:

Post a Comment