जश्न बना मातम... प्रेम विवाह की रंजिश में हमला, एक की मौत एक जख्मी - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Tuesday, May 16, 2017

जश्न बना मातम... प्रेम विवाह की रंजिश में हमला, एक की मौत एक जख्मी

बच्चे के जन्म पर खुशियां मना रहे बेटी के ससुराल परिवार पर कर दिया हमला

श्री गंगानगर

करीब डेढ़ साल पूर्व अपनी बेटी के पड़ोसी के बेटे के साथ प्रेम विवाह कर लेने से आहत लडक़ी के परिवार वालों का गुस्सा उस समय फूट पड़ा जब उक्त लडक़ी के बेटे को जन्म देने के चलते परिवार खुशी में पटाखे फोड़ रहा था। लडक़ी के परिवार वालों को उनका पटाखे फोडऩा इस कद्र अखरा कि उन्होंने लाठियों व तेजधार हथियारों से लैस होकर हमला कर अपनी बेटी के ससुर तथा जेठ को गंभीर जख्मी कर दिया। घटना के बाद उपचार दौरान ससुर ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।  पुलिस ने हमला करने वाले आधा दर्जन से अधिक व्यक्तियों के खिलाफ हत्या और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर चार लोगों को राउंडअप कर लिया है।

उक्त वारदात श्रीगंगानगर के पास चूनावढ़ थाना क्षेत्र के चक 20 जीजी में सोमवार रात लगभग साढ़े 9 बजे हुई। थाना प्रभारी सुन्दरमल बिश्रोई ने बताया कि सुखचैन सिंह मजहबी के पुत्र सतपाल ने पड़ोस में ही रहने वाले मेवासिंह मजहबी की पुत्री शकीना के साथ करीब डेढ़ साल पहले प्रेम विवाह किया था। उस समय से ही दोनों परिवारों में आपसी रंजिश चली आ रही थी। कल सोमवार को शकीना ने श्रीगंगानगर मेें एक निजी अस्पताल में बेटे को जन्म दिया तो परिवार में खुशियों को चार चांद लग गए। घर-परिवार में छाई इस खुशी के चलते देर शाम को सुखचैन सिंह के परिवार के सदस्य बाहर गली में पटाखे छोडऩे लगे। उधर मेवासिंह व उसके परिवार को लगा कि यह पटाखे जानबूझकर उन्हें चिढ़ाने के लिए ही छोड़े जा रहे हैं।
मेवासिंह और उसके परिवार वाले उनके द्वारा छोड़े जा रहे पटाखे व खुशियां सहन नहीं कर पाए तथा रात को करीब  साढ़े 9 बजे एकाएक हमला बोल दिया। इस हमले में सुखचैन सिंह व उसका 26 वर्षीय बड़ा बेटा गुरप्रीत सिंह बुरी तरह से घायल हो गये। दोनों को श्रीगंगानगर के जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां देर रात को सुखचैन सिंह की मौत हो गई। गुरप्रीतसिंह द्वारा आज दिये गये बयान के आधार पर मेवासिंह, उसके भाई अर्जुनसिंह के अलावा गुरलाल सिंह, मनप्रीत पुत्र रतनसिंह, गुरप्रीत पुत्र काकूसिंह, जगतारसिंह आदि पर धारा मामला दर्ज किया गया है। मंगलवार को पोस्टमार्टम के बाद सुखचैन सिंह का शव परिवारजनों को सौंप दिया गया।

No comments:

Post a Comment