सोमवार तक राणा गुरजीत को नहीं हटाया तो ‘आप ’ के विधायक करेंगे रोष मार्च - एच.एस. फूलका

चंडीगड़

     आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस सरकार के कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह द्वारा अपने नौकरों के द्वारा रेता बजरी की खड्ढों के बेनामी ठेके लेने के दोषों के अंतर्गत मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह को अल्टीमेटम दिया है कि वह सोमवार, 29 मई 2017 तक राणा गुरजीत सिंह को मंत्री पद से हटाएं, यदि मुख्य मंत्री ऐसा नहीं करते तो विरोधी पक्ष के नेता एच.एस फूलका के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी के विधायक विधान सभा से मुख्य मंत्री की सरकार रिहायश तक रोष मार्च करेंगे।
    शुक्रवार को फूलका ने मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह को पत्र लिख कर राणा गुरजीत सिंह को बर्खास्त करने और पिछली अकाली भाजपा सरकार के मंत्रियों और नेताओं की तरफ से किए गए ऐसे बेनामी और नाजायज कारोबार की समयबद्ध जांच के लिए विशेष जांच समिति गठित करने की मांग की गई है।
    मुख्यमंत्री को संबोधित करते फूलका ने कहा कि सत्ताधारी पार्टियों के नेताओं और मंत्रियों की तरफ से सरकारी कारोबार और रेता-बजरी समेत अन्य ठेके

">बेनामी लेने की गैर कानूनी रिवायत लोकतंत्र के लिए खतरा है। फूलका ने याद करवाया कि पिछली अकाली -भाजपा सरकार में यह बरताव आम रहा है। उस समय पर विरोधी पक्ष के तौर खुद (कैप्टन अमरिन्दर सिंह) भी अकाली-भाजपा नेताओं के द्वारा रेता -बजरी और अन्य ठेके पर किये नाजायज कब्जों की निंदा करते रहे हो। परन्तु अब आपकी सरकार के मंत्री की तरफ से अपने रसोइया और अन्य निजी नौकरों के द्वारा बेनामी ठेके लेने का जो सनसनीखेज खुलासा हुआ है, इसने सभी हदें पार कर दीं हैं। फूलका ने कहा कि राणा गुरजीत सिंह की परिवारिक कंपनी की तरफ से पी.एस.पी.सी.एल. को बिजली बेच कर ‘कनफ्लिक्ट आफ इनट्रस्ट’ की उल्लंघन पहले ही आपके ध्यान में लाई जा चुकी है, लेकिन कोई कार्यवाही न होने की सूरत में राणा गुरजीत सिंह का हौसला इतना बढ़ गया है कि उसने बेनामी रेता बजरी ठेके लेने की सभी हदें पार कर दीं हैं। फूलका ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह को कहा कि पंजाब के लोगों की जेबों, सरकारी और कुदरती साधनों की लूट की जो रिवायत पिछली अकाली-भाजपा सरकार ने चलाई हुई थी, उसे आपकी (कांग्रेस) सरकार के मंत्रियों की तरफ से जिस बेरहमी के साथ आगे बढ़ाया जा रहा है, यह बेहद चिंताजनक और मन्दभागा बरताव है। आम आदमी पार्टी इस को बर्दाश्त नहीं करेगी।
">ऐसे नाजायज कारोबारें विरुद्ध हमारी पार्टी सदन से ले कर सडक़ तक संघर्ष करने से कभी भी गुरेज नहीं करेगी। फूलका ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह को याद करवाया कि राज्यपाल के भाषण पन्ना नंबर - 5 और पैरा नंबर 12 -सी में सरकार ने सदन के द्वारा पंजाब के लोगों के साथ वायदा किया है कि यदि कोई मंत्री सरकारी कारोबार (कनफ्लिक्ट आफ इनट्रस्ट) में शामिल पाया जाता है तो उसको पद से हटा दिया जायेगा। इस लिए कैप्टन अमरिन्द सिंह पंजाब और पंजाब की जनता के हितों को सुरक्षित रखने के लिए राणा गुरजीत सिंह को मंत्री पद से तुरंत बर्खास्त कर दिया जाये। फूलका ने कहा कि उनको उम्मीद है कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह पंजाब को माफिया मुक्त सूबा बनाने के लोगों के साथ किये वायदे को निभाएंगे।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.