मानसा पंजाब की महिला की राजस्थान में हत्या, बेटा गंभीर - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Wednesday, May 24, 2017

मानसा पंजाब की महिला की राजस्थान में हत्या, बेटा गंभीर

दुर्दांत हत्यारे ने सरिए व दीवार के साथ मार मार की महिला का चेहरा बिगाड़ा

श्रीगंगानगर
 पंजाब के मानसा जिले की निवासी एक महिला की मंगलवार-बुधवार की रात को हनुमानगढ़ जिले में रावतसर थाना क्षेत्र में लोमहर्षक हत्या कर दी गई। इस महिला के पुत्र को तेजधार वाले हथियार से वार करके बुरी तरह से जख्मी कर दिया गया। हत्यारा इस बालक को मरा हुआ समझकर फरार हो गया, लेकिन किस्मत से यह बालक बच गया। इसी बालक से पुलिस पूरे हत्याकांड और घटनाक्रम का खुलासा करने में लगी है। आज सुबह इस वारदात का पता चलने पर मानसा जिले के मूसा गांव से मृतक महिला का पति और उसके ससुराल-पीहर वाले रावतसर पहुंचे। पुलिस इनसे भी पूछताछ करने में लगी है। हत्या और हत्या का प्रयास करने की इस घटना में मृतक महिला की बड़ी बहन का पुत्र ही संदेह के घेरे में है, जो अपने गांव मूसा आज सुबह वापिस आने के बाद से गायब है। उसका मोबाइल फोन स्विच ऑफ है।  जिला पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी इस पूरे हत्याकांड की गुत्थी को सुलझाने में लगे हुए हैंं। अभी कोई कारण सामने नहीं आया, लेकिन पुलिस ने इसके पीछे अवैध सम्बंधों का मामला होने से इंकार नहीं किया है।
खेत में घायल बालक, नाले के चैम्बर में लाश
प्राप्त जानकारी के अनुसार रावतसर-नोहर मार्ग पर करीब 5 किमी दूर चक 4 सीवाईएम को जाने वाली लिंक रोड पर चक 4 सीवाईएम से चक 14 डीपीएम की तरफ लगभग एक किमी दूर मंगलवार सुबह करीब 6 बजे मांगीलाल अपने एक साथी के साथ रातभर खेत में काम कर अपने घर लौट रहा था। तभी इन दोनों की नजर लिंक रोड से करीब 100 फुट दूर खेत में रक्तरंजिश पड़े बालक पर पड़ी। उन दोनों ने बालक को सम्भाला और गांव वालों को बुला लिया। गांव वाले इस बालक को अपने गांव ले आये। बालक की सांसें चल रही थीं। गांव में आने पर उसे होश आ गया। बालक को चाय-पानी पिलाकर पूछा गया, तो उसने बताया कि वह गुड्डू (11) है।

">वह कल शाम को अपने मौसेरे भाई सोहना (26) और मां सुखप्रीत कौर (37) के साथ कार में आया था। रास्ते में सोहना ने उन्हें एक जगह कोल्ड ड्रिंक पिलाया था। इसके बाद उसे गहरी नींद आ गई। उसे नहीं पता कि फिर उसके साथ और उसकी मां व सोहना के साथ क्या हुआ? इस बालक के शरीर पर छह जगह तेजधार वाले हथियार से वार लगे हुए थे। गांव वालों ने 108 की एम्बुलेंस बुलाकर उसे रावतसर के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवा दिया।
वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस की एक टीम गुड्डू से अस्पताल से पूछताछ करने लगी। इधर, घटनास्थल पर पहुंची पुलिस को कुछ ही दूरी पर बने पक्के नाले के चैम्बर में सुखप्रीत कौर की लाश मिल गई। इस चैम्बर के मुहाने पर खून लगा हुआ था। सुखप्रीत कौर की लाश को बाहर निकाला गया, तो उसका चेहरा बिगड़ा हुआ था। उसके शरीर पर जगह-जगह चोटों के निशान थे। पुलिस के अनुसार सुखप्रीत कौर का सिर-चेहरे को बार-बार चैम्बर के किनारे से टकराकर बिगाड़ा हुआ था। बाद में पता चला कि उसके शरीर पर सरिये की चोटें थीं। शव को अस्पताल के मुर्दाघर में सुरक्षित रखवा दिया गया।
मानसा पहुंची पुलिस टीम
गुड्डू से पता चला कि वह मानसा से लगभग 15 किमी दूर मूसा गांव का निवासी है। उसके पिता का नाम अजायब सिंह है, जो गाड़ी चलाने का काम करता है। यह पता चलते ही रावतसर पुलिस ने मानसा पुलिस से सम्पर्क किया। साथ ही हवलदार रामप्रताप की अगुवाई में एक टीम को मानसा के लिए रवाना कर दिया गया। इस बीच पुलिस ने सुखप्रीत कौर के परिवार वालों से फोन पर सम्पर्क कर लिया। पुलिस के मुताबिक सुखप्रीत कौर के पति अजायब सिंह ने बताया कि उसकी पत्नी, पुत्र गुड्डू को लेकर कल शाम करीब सवा 6 बजे संगरूर के नजदीक गांव पीरा कलां में विवाहित अपनी बहन से मिलने जाने का कहकर निकली थी। इन दोनों को उसका भतीजा गुरुप्यार सिंह कार से अड्डे के नजदीक मेन रोड पर छोडक़र आया था। गुरुप्यार सिंह वहां किसी सेठ की कार का ड्राइवर है। 
मेन रोड से सोहना, सुखप्रीत कौर व गुड्डू को लेकर अपनी गाड़ी से रवाना हुआ था। सुखप्रीत कौर व गुड्डू ने संगरूर जाना था, लेकिन वे सोहना के साथ रावतसर किसलिए आ गये, यह अभी रहस्य बना हुआ है। सोहना रावतसर क्षेत्र का जानकार है, जो पहले अपनी पिकअप डाला गाड़ी में पशुओं को रावतसर में हर बुधवार को लगने वाले पशु मेले में लेकर आया करता था। इस कारण वह इस इलाके का जानकार था। जानकारी के मुताबिक सुखप्रीत कौर की पांच बहनें और हैं। तीन बहनें मूसा गांव में एक ही घर में तीन भाइयों को विवाहित हैं। सोहना, उसका भतीजा भी लगता है और भांजा भी। पीरा कलां मेें उसकी एक बहन अवतार सिंह से विवाहित है। गुड्डू, सुखप्रीत कौर का इकलौता पुत्र है।
घर आने के बाद हुआ सोहना गायब
पुलिस के मुताबिक सोहना बुधवार सुबह करीब 5 बजे मूसा गांव में अपने घर आया। करीब दो घंटे वह घर में रुका। इसके बाद वह लगभग 7 बजे यह कहते हुए घर से निकल गया कि उसके गले में दर्द हो रहा है। वह डॉक्टर से चैकअप करवाने के लिए जा रहा है। घर से चले जाने के पश्चात् सोहना ने अपने परिवार के एक सदस्य को फोन कर बताया कि वह मानसा के एक अस्पताल में भर्ती हो गया है। डॉक्टर उसके गले का ऑपरेशन करेंगे।
"> उसे कईं दिन अस्पताल में रहना पड़ेगा। इसलिए उसकी गाड़ी पर किसी और व्यक्ति को कुछ दिनों के लिए ड्राइवर रख लिया जाये। इसके बाद सोहना का मोबाइल फोन बंद है। मानसा गई पुलिस टीम इस प्राइवेट अस्पताल में पहुंची, तो पता चला कि सोहना वहां आया ही नहीं। वह तबसे गायब है।
परिजनों को गुड्डू ने बताया सब कुछ

जानकारी के अनुसार रावतसर के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाये जाने पर गुड्डू का चिकित्साकर्मियों ने इलाज किया। उसके शरीर पर छह जगह वार लगे हुए थे। जहां टांके लगाये गये। पुलिस के मुताबिक गुड्डू के शरीर पर वार तो नाज्जुक जगह पर किये गये थे, लेकिन ये वार गहरे नहीं थे। अपराह्न बाद गुड्डू को होश आ गया। इसी बीच उसका पिता अजायब सिंह, परिवार के कईं जने भी रावतसर पहुंच गये। होश आने पर अपने पिता अजायब सिंह से गुड्डू ने काफी देर तक बातचीत की। पुलिस ने भी उससे पूछताछ की। गुड्डू ने बताया कि रास्ते में सोहना वीर ने उन्हें कोल्ड ड्रिंक पिलाया था। इसके बाद उसे गहरी नींद आ गई। सोहना उन्हें किसी बाबा के यहां मिलाने ले जाने की बात कह रहा था। बता दें कि रावतसर में बाबा खेत्रपाल का मन्दिर है।


No comments:

Post a Comment