वाणिज्यकर विभाग ने पकड़ा था दो ट्रक माल

 रात को ले उड़े ट्रक, खाली कर वापिस खड़े किये

श्रीगंगानगर
श्रीगंगानगर में ट्रांसपोर्ट कम्पनी-विराट कार्गाे के तीन संचालकों को हनुमानगढ़ टाऊन पुलिस ने वाणिज्यकर विभाग द्वारा दर्ज करवाये गये एक मुकदमे की तफ्तीश करते हुए आज शाम गिरफ्तार कर लिया। थानाप्रभारी अनवर मोहम्मद ने सोमवार देर शाम बताया कि विराट कार्गाे के तीन संचालकों-बलदेव सैनी, अतुल तथा विजय बिलंदी को कल कोर्ट मेें पेश कर रिमांड दरयाफ्त किया जायेगा। उन्होंने बताया कि वाणिज्यकर विभाग ने विगत 13 सितम्बर को संगरिया मेें फ्लाई ओवर के पास दिल्ली जा रहे दो ट्रकों को पकड़ा था। इनमें लदे माल को चैक करने के लिए यह ट्रस्ट हनुमानगढ़ टाऊन में वाणिज्यकर विभाग के कार्यालय में लाये गये थे। विगत 19-20 मई की रात को कर भवन से यह ट्रक गायब कर दिये गये। इन ट्रकों को 20 मई को तडक़े वापिस लाकर कर भवन के पास खड़ा कर दिया। इनमें लदा सामान गायब कर दिया गया। इस सम्बंध में हनुमानगढ़ में सहायक वाणिज्यकर अधिकारी-बी जोन भीमसिंह जांगिड़ ने 20 मई को मुकदमा दर्ज कराया था। श्री जांगिड़ ने बताया कि 13 मई को जब ट्रक एचआर 55 जी 3947 और आरजे 14 जीए 8872 को संगरिया में पकड़ा गया, तो उसमें लदे हुए माल को लेकर संदेह हुआ। इन ट्रकों को हनुमानगढ़ टाऊन में कर भवन में लाकर खड़ा कर दिया गया। ट्रकों के चालकों संजय एवं भूपसिंह को पाबंद करते हुए उन्हें ही इन ट्रकों व इनमें लदे माल की देखभाल सौंपी गई। इनके द्वारा पेश की गई बिल्टियों और बिलों को ट्रक में लदे हुए माल के साथ मिलान करने के लिए ले लिया गया।

"> माल का मिलान करने के लिए सात दिन का नोटिस दिया गया था। श्री जांगिड़ ने बताया कि 19 मई को दोनों ट्रक चालकों की मौजूदगी में वहां आये हुए विराट कार्गाे के संचालकों बलदेव सिंह सैनी, विजय बिलंदी और अतुल तथा अन्य अधिकारियों की मौजूदगी मेें माल का मिलान शुरू किया गया। दिनभर में एक ट्रक के माल का ही मिलान हो पाया। इस ट्रक से मिलान के लिए उतारे हुए माल को शाम को वापिस ट्रक में लोड करवा दिया। रात हो जाने के कारण दूसरे ट्रक के माल का मिलान अगले दिन 20 मई को करना था। रात को लगभग 11 बजे ट्रांसपेार्ट कम्पनी के संचालक व चालक वहां से ट्रकों को लेकर गायब हो गये। कर भवन में रात को चौकीदार नहीं होते। यह लोग ट्रकों को अगली सुबह खाली करके कर भवन के पास छोड़ गये। इन लोगों ने उनमें लदे हुए माल को खुर्द-बुर्द कर दिया। बताया जा रहा है कि यह माल उन फर्मांे को पहुंचा दिया, जिन्होंने इस ट्रांसपोर्ट कम्पनी के जरिये माल मंगवाया था। माल दिल्ली से श्रीगंगानगर आ रहा था। इनमें क्रॉकरी, परचून, इलेक्ट्रीक गूड्स आदि का माल था। ट्रकों से माल गायब कर देने पर उन्होंने उच्चाधिकारियों को अवगत करवाया। उन्हीं के निर्देश पर थाने में जाकर रिपोर्ट दे दी।
"> पुलिस ने बताया कि धारा 407 और 120 बी के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। इसकी जांच एएसआई जसकरण सिंह कर रहे हैं। वाणिज्यकर विभाग अधिकारियों के अनुसार पुलिस ने ट्रांसपोर्ट कम्पनी के तीनों पार्टनर संचालकों को आज थाने में तलब किया गया था। इनसे देर शाम तक पूछताछ चलती रही। थानाप्रभारी ने देर शाम बताया कि तीनों संचालकों को गिरफ्तार कर लिया गया है। कल कोर्ट में पेश कर इनका रिमांड मांगा जायेगा, क्योंकि इनकी निशानदेही पर उस माल को बरामद किया जाना है, जो ट्रकों से गायब किया गया है। एसीटीओ भीमसिंह जांगिड़ ने बताया कि यह माल वापिस लाये जाने पर उसका पूरी तरह से मिलान करने के बाद ही पैनल्टी लगाने की कार्रवाई भी की जायेगी। बता दें कि बलदेव सिंह सैनी श्रीगंगानगर में भाजपा की वरिष्ठ नेत्री श्रीमती अंजू सैनी के पति हैं। बलदेव सैनी पर पिछले वर्ष एक नाबालिग किशोरी से दुष्कर्म करने के मामले में फंसे एक सरपंच को पुलिस से बचाने के लिए तीन लाख रुपये ले लेने का आरोप लगा था। उसके खिलाफ स्थानीय सदर थाना में सरपंच के पिता ने मुकदमा दर्ज करवाया था। हालांकि पुलिस ने बाद में जांच-पड़ताल में बलदेव सैनी को क्लीन चिट दे दी थी।
Tags

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.