कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार द्वारा 10 करोड़ गेंहू घपले में 14 फूड इंस्पैक्टर मुअत्तल Capt Amarinder govt suspends 14 food inspectors in Rs. 10 crore wheat scam - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Thursday, June 01, 2017

कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार द्वारा 10 करोड़ गेंहू घपले में 14 फूड इंस्पैक्टर मुअत्तल Capt Amarinder govt suspends 14 food inspectors in Rs. 10 crore wheat scam



चंडीगढ़

भ्रष्टाचार को थोड़ा भी सहन ना करने की अपनी वचनबद्धता दोहराते हुये कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार ने 10 करोड़ रुपये के कथित गेंहू घोटाले में खाद्य एवं सिविल आपूर्ति विभाग के 14 इंस्पैक्टर मुअत्तल कर दिये हैं।
आज यहां एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि मुअत्तली के आदेश सी वी सी टीम की रिपोर्ट के बाद किये गये हैं जिसको कि 45000 क्विंटल गेंहू घोटाले में भ्रष्टाचार के  आरोपों की जांच का कार्य सौंपा गया था। प्रवक्ता अनुसार इन आरोपियों को चार्जशीट जारी की जा रही है। प्रवक्ता ने आगे बताया कि एन एफ एस गेंहू की ब्लैक मार्किट में बिक्री से संबंधित शिकायतों के आधार पर सी वी सी जांच के आदेश जारी किये गये हैं। प्रवक्ता अनुसार अमृतसर के राइयां और मेहता केंद्रों में फूड इंस्पैक्टरों विरूद्ध शिकायतें प्राप्त हुई थी। सीवी सी की आरंभिक जांच के दौरान यह बात सामने आई है जिन 14 कर्मचारियों विरूद्ध कार्रवाई की गई है, वह इस मामले में आरोपी हैं। उन्होंने दस्तावेज़ों से छेड़छाड़ की है। उनके द्वारा जाली रसीदें बनाकर लाभपात्रियों में गेंहू बांटी दिखाई गई है और लाभपात्रियों के अंगूठों के निशानों से छेड़छाड़ की गई है। 
दोषी इंस्पैक्टरों में बिक्रम सिंह, गुरसेवक सिंह, प्रभजोत सिंह, वरूण ठाकुर, दविंदर सिंह, हरमनदीप सिंह, गुर संगत सिंह, अमृतप्रीत कौर, सिमरजीत सिंह, अजय कुमार, संदीप कुमार, अमित सरीन, आरती शर्मा और संदीप बांसल का नाम शामिल है। 
प्रवक्ता अनुसार मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार को रत्तीभर भी सहन ना करने की पहुंच अपनाई है और सभी सरकारी विभागों को आवाम से निपटने के समय पारदर्शिता बनाने के लिये कहा गया है।



Capt Amarinder govt suspends 14 food inspectors in Rs. 10 crore wheat scam
Chandigarh, June 1: Reiterating its commitment of Zero Tolerance against corruption, the Captain Amarinder Singh led Punjab Government on Thursday suspended 14 Inspectors of the Food and Civil Supplies department for their alleged involvement in a Rs. 10 crore wheat scam.
The suspension orders followed a report by a CVC team which had been asked to probe the charges of corruption, relating to an estimated 45000 quintals of wheat, according to an official spokesperson, who added that charge-sheets were also being issued against the accused.
The CVC investigation was ordered on the basis of a complaint regarding sale of NFSA Wheat in the black market. The complaint was made against the food inspectors of Rayya and Mehta Center in Amritsar district, the spokesperson disclosed.
The CVC probe prima facie found that the 14 officials, against whom action has been taken, to be responsible. They were found to have fabricated the documents showing the said wheat to have been distributed amongst the beneficiaries by preparing bogus receipts and manipulating thumb impressions of the beneficiaries, said the spokesperson.
The accused have been identified as Inspectors Bikram Singh, Gursewak Singh, Prabhjot Singh, Varun Thakur, Davinder Singh, Harmandeep Singh, Gursangat Singh, Amritpreet Kaur, Simarjeet Singh, Ajay Kumar, Sandeep Kumar, Amit Sareen, Aarti Sharma and Sandeep Bansal.
According to the spokesperson, the Chief Minister has adopted a zero tolerance approach on corruption and has directed all government departments to imbibe total transparency in their dealings with the public


No comments:

Post a Comment