मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित, थाना प्रभारी को किया लाइन हाजिर, मुंशी पर मामला दर्ज

लुधियाना 

जगराओ के थाना जोधां के रेस्ट रूम में महिला पुलिस कर्मी का शव संदिग्ध हालात में कमरे के पंखे से लटकता पाया गया। पुलिस ने कहा कि उसने शुक्रवार रात को पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या की है। इस संबंध में थाना जोधां के मुंशी निर्भय सिंह के विरुद्ध महिला पुलिस कर्मचारी को आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है।
थाना जोधां के प्रभारी मोहन दास ने बताया कि मृतक महिला सिपाही अमनप्रीत कौर पहले थाना जोधां में तैनात थी। मृतका के भाई गुरिंद्र सिंह निवासी न्यू आबादी अकालगढ़ थाना जोधां ने पुलिस को दिये बयान में आरोप लगाया कि उसकी बहन अमनप्रीत कौर को थाना जोधां का मुंशी निर्भय सिंह परेशान करता था। इस संबंध में अमनप्रीत कौर ने उसे भी बताया था और थाना दाखा के डीएसपी को भी सूचना दी थी। जिस पर डीएसपी ने उसे थाना दाखा बुला लिया था। पुलिस ने मुंशी निर्भय सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। थाना प्रभारी मोहन दास का कहना है कि मृतका के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल निकलवा कर जांच की जा रही है। मृतका अमनप्रीत कौर द्वासरा आत्महत्या की बात उसके परिजनों के गले नहीं उतर रही। उनका कहना है कि अमनप्रीत कौर ने आत्महत्या नहीं की बल्कि उसकी हत्या करके  शव पंखे से लटकाया गया है। कमरे में जहां शव लटक रहा था उसके साथ चारपाई पड़ी हुई है और अमनप्रीत कौर के पांव जमीन पर लग रहे है। ऐसे में पंखे से लटककर उसकी मौत कैसे हो सकती है? उस कमरे में पुरुष पुलिस कर्मचारियों की दो पगड़ी भी मौजूद थीं।

उन्होने इंसाफ के लिए थाना जोधां के सामने धरना प्रदर्शन किया। इस मौके पर विधान सभा में विपक्ष के नेता विधायक एचएस फूलका, कामरेड संतोख सिंह गिल ने कहा कि राज्य में अमन कानून की व्यवस्था बुरी तरह से चरमरा गई है। अगर थानों में पुलिसकर्मी ही सुरक्षित नहीं है तो आम लोगों इंसाफ कैसे मिलेगा। धरनास्थल पर पहुंचे एसएसपी सुरजीत सिंह ने मृतका के परिजनों की मांग पर मामले की जांच के लिए एसआइटी गठित कद दी है। मृतका का पोस्टमार्टम डॉक्टरों का बोर्ड करेगा। थाना जोधा के प्रभारी मोहन दास को तुरंत लाइन हाजिर कर दिया गया है। एसएसपी ने कहा कि अगली कार्रवाई पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद की जाएगी।


Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.