विधायक के भतीजे की गिरफ्तारी में पसीने छूटे- जानकर भी अंजान बन गये पुलिस अधीक्षक - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

POLL- PM KON ?

Sunday, June 25, 2017

विधायक के भतीजे की गिरफ्तारी में पसीने छूटे- जानकर भी अंजान बन गये पुलिस अधीक्षक

 व्यापारिक संस्थाओं में आक्रोश,  बुलाई बैठक

 निजी बस ऑपरेटर यूनियन के अध्यक्ष सुनील अनेजा उर्फ सोनू पर अपने साथियों सहित जानलेवा हमला करने के मुख्य आरोपित विवेकपाल सिंह की गिरफ्तारी में जिला पुलिस के पसीने छूट रहे हैं। कारण ये है कि विवेकपाल सिंह सत्तारूढ़ भाजपा के विधायक गुरजंट सिंह बराड़ का भतीजा लगता है। ऐसे में खाकी पर खादी का इतना दबाव है कि घटना के पांच दिन बीतने के बाद भी पुलिस अधीक्षक हरेन्द्र महावर आज मिलने आज व्यापारिक संस्थाओं के समक्ष ऐसे अनजान बन गये, जैसे कुछ पता ही नहीं है कि हमला करने वाले कौन हैं और उन्होंने किसलिए हमला किया। आज दोपहर कोडा चौक के पास एक होटल में बैठक करने के पश्चात् संयुक्त व्यापार मण्डल के अध्यक्ष तरसेम गुप्ता, महामंत्री नरेश सेतिया, भाजपा नेता दीनानाथ चलाना, श्रीगंगानगर चैम्बर ऑफ कॉमर्स के संयोजक विजय जिन्दल, अरोड़वंश सभा के अध्यक्ष कपिल असीजा, नीरज कटारिया, दीपक मिड्ढा, दीपक भाटिया, अशोक अनेजा लड्डु, व्यापारी नेता हरीओम लूथरा, संयुक्त व्यापार मण्डल के पूर्व अध्यक्ष कृष्ण मील, कांग्रेसी पार्षद सलीम अली चौपदार आदि गणमान्य लोगों का शिष्टमण्डल पुलिस लाइन पहुंचा, जहां पुलिस अधीक्षक हरेन्द्र महावर जिले की अपराध समीक्षा बैठक करने के लिए जा रहे थे। बैठक से पहले सभागार के बाहर लोन में जब इस प्रतिनिधिमण्डल से वार्ता चल रही थी,

">तब हरेन्द्र महावर ऐसे अनजान बन गये कि उन्हें इस घटना के पूरे तथ्यों का कुछ पता ही नहीं है। शिष्टमण्डल ने पूछा कि पंाच दिन बीतने के बाद भी हमलावर पकड़ में नहीं आये हैं, तो पुलिस अधीक्षक उनसे ही पूछने लगेे कि यह हमला क्यों, कैसे और किसने किया है? वे इन लोगों से ही नाम जानना चाहते थे कि हमला करने वाले कौन थे? बता दें कि पांच दिन पूर्व रात को सोनू अनेजा कोडा चौक से पुरानी आबादी से शक्तिनगर अपने घर जा रहे थे। तब रास्ते में उन पर हमला किया गया। हमलावरों ने पिस्तौल से फायर भी किया। सोनू के काफी चोटे आईं। उसके बयान के आधार पर विवेकपाल व उसके पांच साथियों पर पुरानी आबादी पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया, लेकिन इनमें से अभी तक कोई नहीं पकड़ में आया है। जानकारी के अनुसार शहर के सभी व्यापारिक, सामाजिक व धार्मिक संस्थाओं ने इस वारदात के सम्बंध में सोमवार शाम को पंचायती धर्मशाला में बैठक बुलाई है। इस बैठक में निर्णय लिया जा सकता है कि अगर हमलावरों को गिरफ्तार नहीं किया जाता, तो मंगलवार या बुधवार को श्रीगंगानगर शहर बंद का आह्वान किया जाये। व्यापारी वर्ग काफी उद्वेलित है।
यह बना हमले का कारण
प्राइवेट बस ऑपरेटर यूनियन के अध्यक्ष पर जानलेवा हमला, निजी बसों की आपसी प्रतिस्पर्धा का नतीजा है। विवेकपाल के परिवार ने श्रीगंगानगर से जयपुर के लिए बोल्ट बस सर्विस शुरू कर रखी है, जिसका इकतरफा किराया पहले 850 रुपये था, जिसे हाल ही घटाकर 750 रुपये करना पड़ा, क्योंकि एक बहुत बड़े बस ऑपरेटर ने श्रीगंगानगर से जयपुर के लिए मल्टी एक्सल लग्जरी बस शुरू कर दी, जिसका एकतरफा किराया 600 रुपये है। इस बस की बुकिंग सोनू अनेजा अपने काउंटर पर करते थे। यह बस शुरू होने से बोल्ट बस सर्विस में टिकट बुकिंग कम हो गई। इसके लिए सोनू अनेजा को मल्टी एक्सल बस की बुकिंग बंद करने की धमकियां दी जा रही थीं। यही नहीं, गत 10 जून की रात को मल्टी एक्सेल बस जयपुर से श्रीगंगानगर आई, तो कोडा चौक में उस पर हमला कर शीशे तोड़ दिये गये थे। हमलावरों की सीसी फुटेज कोतवाली पुलिस को दी गई। कोतवाली पुलिस ने भी कोई कार्रवाई नहीं की। इस घटना के बारे में 18 जून को कोतवाली में भी मुकदमा दर्ज करवाया गया।

No comments:

Post a Comment