अध्यापक ने मांगी लिखित माफी,  डॉ. भीम राव अंबेडक़र के खिलाफ की थी आपत्तीजनक टिप्पणी

मुक्तसर 

बच्चों का भविष्य संवारने वाले एक सरकारी अध्यापक को एक वाटसएप्प ग्रुप में बाबा साहबि डाक्टर भीम राव अंबेडकर के बारे में की गई अभद्र टिप्पणी इस कद्र भारी पड़ी कि ना सिर्फ उसे थाने के चक्कर लगाने पड़े बल्कि समूचे भाईचारे से सार्वजनिक एवं लिखित रूप से माफी मांग पर पीछ़ा छु्ड़वाना पड़ा। हुआ यूं कि मुक्तसर जिले के गांव रामगढ़ चुंगा के सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल में विज्ञान अध्यापक कार्यरत अमनजोत सिंह ने कुछ दिन पूर्व अध्यापकों के बने वाट्सएप्प ग्रुप में डाक्टर भीम राव अंबेडकर के बारे में अभद्र टिप्पणी कर दी। इसके बाद अन्य सदस्यों के साथ ग्रुप में ही उसका मैसेज के माध्यम से विवाद भी चलता रहा तथा धीरे धीरे यह मामला तूल पकड़ गया। इस मामले के सामने आने पर दलित ह्यूमन राइट्स पंजाब के कोआर्डिनेटर अशोक महिंदरा ने थाना सिटी पुलिस को शिकायत दी थी

"> तथा इसके बाद विभिन्न संगठन इस मामले में एक मंच पर आ गए थे। थाना सिटी में विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों की मौजूदगी में उक्त अध्यापक अमनजोत सिंह ने माना कि उसने कुछ दिन पूर्व वाट्सएप्प पर बने हुए मास्टर केडर यूनियन के ग्रुप में डॉ. भीम राव अंबेडकर के खिलाफ कुछ अभद्र संदेश भेज दिए थे, जिसके लिए वह शर्मिंदा है तथा सार्वजनिक तौर पर माफी मांगता है। उसने जहां ग्रुप में तथा सार्वजनिक तौर पर माफी मांगी वहीं लिखित तौर पर खेद जताया कि यदि उसकी बातों से किसी भी व्यक्ति या वर्ग विशेष को ठेस पहुंची है तो वह इसके लिए माफी चाहता है। महिंदरा सहित उपस्थित सभी ने अध्यापक द्वारा सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने पर संतुष्टी जताते हुए शिकायत वापस ले ली।
इस मौके सरदूल सिंह, सुशील कुमार, सुखदेव सिंह, हरबंस सिंह सिद्धृ, बलजीत सिंह, अमृतपाल सिंह, कुलदीप सिंह सहित अन्य मौजूद थे।
Tags

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.