परिवार सदमे में आस पास के लोग स्तब्ध, बेटी की गंभीर हालत को देखते डॉक्टरों ने किया रेफर

शुक्रवार की सुबह गिरधारी लाल के आस पास रहने वाले परिवारों के लोग उस समय स्तब्ध रह गए जब दिन निकलते ही उन्हें पता चला कि गिरधारी की पत्नी ने खुद तो जहरीली वस्तु निगली ही साथ में उसकी बेटी ने भी जहर गटक लिया है। आनन फानन में परिवार व आस पास के लोग दोनों मां बेटी को गंभीर हालत में अस्पताल लेकर गए जहां मां ने दत तोड़ दिया जबकि  बेअी की गंभीर हालत को देखते उसे बीकानेर के लिए रेफर कर दिया गया है। पुलिस ने मृतक महिला के पिता द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर फिलहाल मर्ग दर्ज की है। साथ ही इस मामले की जांच शुरू कर दी है।
घटना नई मंडी घड़साना थाना क्षेत्र की है। पुलिस के मुताबिक करीब 35 वर्षीय सुमित्रा पत्नी गिरधारीलाल मेघवाल निवासी चक 4 आरजेएम ढाणी-रोजड़ी और उसकी 15 वर्षीय पुत्री दुर्गा को शुक्रवार सुबह उसके परिवार वाले बेहोशी की हालत में घड़साना के एक निजी अस्पताल में लेकर आये। अस्पताल में लाये जाने के कुछ ही देर बाद सुमित्रा की मौत हो गई। उसकी बेटी दुर्गा की नाजुक हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद उसे बीकानेर के लिए रैफर कर दिया। इस मामले की जांच कर रहे सब इंस्पेक्टर अस्त अली ने बताया कि अनूपगढ़ के नजदीक चक 11 एसजेएम निवासी ख्यालीराम मेघवाल की पुत्री सुमित्रा की शादी करीब 16 वर्ष पहले गिरधारीलाल के साथ हुई थी। गिरधारीलाल के आगे-पीछे कोई नहीं है। उसकी चक 4 आरजेएम ढाणी में कृषि भूमि है। शादी के बाद गिरधारीलाल-सुमित्रा के तीन बच्चे हुए। इनमें दुर्गा सबसे बड़ी है।

आज तडक़े लगभग तीन बजे सुमित्रा ने दुर्गा को भी कोई जहरीली दवा पिला दी और खुद ही उसका सेवन कर लिया। ख्यालीराम ने पुलिस को दी रिपोर्ट में कहा है कि उसकी बेटी और नाती ने किसी घरेलू विवाद के चलते जहरीली दवा का सेवन किया है। सुमित्रा का शव पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिवार वालों को सौंप दिया गया। फिलहाल घटना के ठोस कारण का पता नहीं चल पाया, लेकिन एसआई अस्त अली ने बताया कि मां-बेटी ने यह कदम क्यों उठाया, इसकी विस्तृत जांच की जायेगी।
Tags

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.