दंपति सहित तीन लोगों ने चुराए थे साढ़े तीन लाख, पुलिस ने 2 लाख 15 हजार किए बरामद

श्री मुक्तसर साहिब

 जिले में पड़ते गांव लंबी के बस स्टेंड पर स्थित जूते गांठने वाले एक मोची की पाई-पाई जोडक़र एकत्र की जीवन भर की कमाई को लेकर रफूचक्कर होने वाले दंपति सहित तीनों आरोपियों को पुलिस ने धर दबोचा है। यही नहीं उनके द्वारा चुरागई कुल साढ़े तीन लाख रुपये की रकम में से पुलिस ने सख्ती से पूछताछ करते हुए 2 लाख 15 हजार रुपये की नगदी भी बरामद कर ली हैं। 

जानकारी के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के पैतृक हलका लंबी के मुख्य बस स्टेंड पर लोगों की जूतियां गांठने वाले करीब 40 वर्षीय मोची काला सिंह पुत्र सोहन लाल ने न जाने कैसे एक एक धेला जोडक़र अपनी जीवन भर की कमाई के रूप में साढ़े तीन लाख रुपये जुटाए थे। मोची ने अपनी जान से भी अधिक कीमती इस धनराशी को बड़े ही अरमानों के साथ एक सफेद रंग के रुमाल में लपेटकर अपने घर में ही रखी पेटी में ताला लगाकर रखा था। एक दिन जब वह घर लौटा तो पेटी का ताला टूटा हुआ था। यह देख सकते में आए मोची काला सिंह ने अपने भाई सतपाल तथा पत्नी सोनू की आवाज लगाई। तीनों ने मिलकर जब पेटी में चैक किया तो उसकी सफेद रुमाल में रखी जीवन भर की पूंजी गायब थी। मोची के घर पर बलविंदर सिंह उर्फ बिंदर पुत्र बंता सिंह, उसकी मौसी का लडक़ा लवप्रीत सिंह पुत्र भिंदर सिंह तथा बलविंदर सिंह की पत्नी सुखप्रीत कौर का आना-जाना लगा रहता था। इन सभी को



काला सिंह द्वारा रुपये रखे होने के बारे में जानकारी भी थी। काला सिंह ने पुलिस के पास इनके खिलाफ संदेह के आधार पर शिकायत दर्ज करवा दी। जिसके  बाद पुलिस ने इस मामले में सख्ती बरतते हुए उक्त आरोपियों को काबू कर उनके कब्जे से चुराए गए रुपयों में से दो लाख पंद्रह हजार रुपये की राशि भी बरामद कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया। थाना के मुख्य अफसर इंस्पेक्टर बिक्रमजीत सिंह के अनुसार आरोपियों को 18 जुलाई को अदालत में पेश किया जाएगा तथा रिमांड हासलि कर उनसे शेष रुपयों की बरामदगी कराई जाएगी।
-----

 रुमाल में लपेट कर पेटी में ताला लगाकर रखे थे साढ़े तीन लाख रुपये

पुलिस ने दंपति सहित तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर शुरू की कार्रवाई

श्री मुक्तसर साहिब 


पंजाब के मुक्तसर जिले में पड़ते पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के हलका लंबी के बस स्टैंड पर लोगों की जूतियां गांठने वाले मोची की जीवन भर की कमाई चोर उड़ा ले गए। मोची ने न जाने कैसे लोगों के जूते पालिस कर व जूते चप्पल गांठते हुए अपने अरमानों को तिलांजलि देकर एक एक पैसा कर साढ़े तीन लाख रुपये जोड़े थे। फिलहाल थाना लंबी की पुलिस ने मोची की शिकायत के बाद मामला दर्ज कर गहन छानबीन शुरू कर दी है।
 पुलिस को दी शिकायत में लंबी निवासी करीब 40 वर्षीय पीड़ित काला सिंह पुत्र सोहन लाल ने बताया कि वह लंबी के बस स्टैंड पर मोची का काम करता है। उसके अनुसार उसने पिछले करीब 20 सालों में कड़ी मेहनत करते हुए पाई पाई जोडक़र साढ़े तीन लाख रुपये जुटाए थे। यह राशी उसने बड़े ही अरमानों के साथ एक सफेद रुमाल में लपेट कर रखी थी। इस रुमाल पर लाल रंग के धागे से उसका नाम काला सिंह भी लिखा हुआ था। उसने रुमाल में बंधे पैसे अपने घर के कमरे में रखी पेटी में ताला लगाकर संभाले हुए थे। 12 जुलाई को रोजाना की तरह काम से थका हारा लौटकर जब वह अपने घर आया तो आते ही वह कमरे में गया। कमरे में जब उसने पेटी का ताला टूटा हुआ देखा

तो उसके पांवों तले से जमीन खिसक गई। घबराहट में तुरंत उसने अपनी पत्नी सोनू तथा पास के घर में रहते अपने भाई सतपाल को आवाज दी। उनके आने पर उसने पेटी खोलकर देखी तो उसमें से पैसों वाला रुमाल गायब था। उसके अनुसार उनके पास की ढाणी में रहने वाले बलविंदर सिंह, उसकी पत्नी सुखप्रीत कौर तथा उनके नजदीकि रिश्तेदार लवप्रीत सिंह का उनके घर आना जाना था। उक्त लोगों को ही पैसों के बारे में जानकारी थी तथा वही उसके पैसे चुराकर ले गए हैँ। थाना लंबी के प्रभारी बिक्रमजीत सिंह ने बताया कि पुलिस ने काला सिंह के बयानों पर मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। उनके अनुसार शीघ्र आरोपी पुलिस के शिकंजे में होंगे तथा उनसे पैसे भी बरामद होने के आसार हैं।


Tags ,

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.