Type Here to Get Search Results !

निठारी कांड: कोर्ट ने दोषियों को सुनाई फांसी की सजा

नोएडा के बहुचर्चित निठारी हत्याकांड को लेकर गाजियाबाद की स्पेशल सीबीआई की कोर्ट ने मुख्य आरोपी सुरेंद्र कोली और मनिंदर सिंह पंढ़ेर को फांसी की सजा सुनाई है।

नोएडा की निठारी की रहने वाली 20 वर्षीय पिंकी सरकार को 2006 में सुरेंद्र कोली और मनिंदर सिंह पंढ़ेर ने अपहरण कर गैंगरेप किया और फिर उस लड़की की हत्या कर दी। आज हुई सुनवाई में सीबीआई विशेष अदालत ने मनिंदर सिंह पंढ़ेर को हत्या और रेप की साजिश रचने का मुख्य आरोपी पाया है। इसके साथ ही अदालत ने दोनों मुख्य आरोपियों पर 10-10 हजार का जुर्माना भी लगाया है। सुरेंद्र कोली और मनिंदर सिंह पंढ़ेर को अदालत ने धारा 302 के तहत फांसी की सजा सुनाई है।

क्या था निठारी कांड :- आपको बता दें कि नोएडा के निठारी गांव में रह रही पश्चिम बंगाल के बहरामपुर निवासी 20 वर्षीय युवती सेक्टर 37 में एक कोठी में घरेलू सहायिका थी। वह रोजाना निठारी के डी-5 कोठी के सामने से गुजरती थी। 5 अक्टूबर 2006 को वह कोठी में काम करने गई थी। लेकिन घर नहीं पहुंची। पिता ने नोएडा के थाना सेक्टर-20 में गुमशुदगी की शिकायत की थी। इसेक बाद पुलिस ने 30 दिसंबर 2006 को नोएडा के सेक्टर 20 थाने में हत्या का मामला दर्ज किया। फिर 10 जनवरी 2007 को केस सीबीआइ को दे दिया गया। 29 दिसंबर 2006 को पुलिस ने इस घटना के मुख्य आरोपी सुरेंद्र कोली और मोनिंदर सिंह को नोएडा के सेक्टर-31 से गिरफ्तार किया था। पुलिस को तब डी-5 कोठी के पास नाले से कई बच्चों के कंकाल मिले थे। सीबीआई ने 11 जनवरी 2007 को पंढ़ेर व कोली के खिलाफ 20 वर्षीय युवती के अपहरण, दुष्कर्म और हत्या का मुकदमा दर्ज किया।
Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.