खरीदी लडक़ी से अपने भाई के साथ शादी करवाने वाली महिला सहित दो काबू
कोटकपूरा  

एक नाबालिग लडक़ी को कथित रूप से अगवा कर शादी करने की आड़ में बेच देने के आरोप में पुलिस ने एक युगल को गिरफ्तार किया है। इस मामले में मुख्य अभियुक्त अभी फरार है। पुलिस ने गिरफ्तार किये गये युगल को आज कोर्ट में पेश किया। न्यायाधीश ने पूछताछ और नाबालिगा की बरामदगी के लिए तीन दिन का रिमांड मंजूर किया है। हनुमानगढ़ मेंं महिला थाना पुलिस ने अपहरण के इस मामले में पूछताछ के लिए भरतपुर जिले में चिकसाना थाना क्षेत्र में आजादनगर निवासी 30 वर्षीय तापू उर्फ सवीता तथा 24 वर्षीय कुलदीप उर्फ कुली पुत्र प्रकाश बावरी को तलब किया था। पूछताछ करने के बाद इन दोनों को हिरासत मेें ले लिया गया। पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि जंक्शन थाना क्षेत्र के मोहल्ला सुरेशियां से करीब एक महीने पहले 12 जून को 14-15 वर्षीय एक किशोरी लापता हो गई थी। दरअसल इस किशोरी को उसकी मां अपने एक परिचित सुरेश के साथ पंजाब के कोटकपूरा में अपने एक परिचित के यहां गई थी। वहीं पर सुरेश उसकी नाबालिग लडक़ी को लेकर गायब हो गया। इस पर लडक़ी की मां ने सुरेश पर उसकी पुत्री का अपहरण कर लेने के आरोप में मुकदमा दर्ज करवाया।


 इस केस की तफ्तीश के दौरान पता चला कि सुरेश लडक़ी को भरतपुर जिले में ले गया था, जहां उसने तापू उर्फ सवीता को लडक़ी 50 हजार रुपये में बेच दी। सवीता ने अपने भाई पवन के साथ इस लडक़ी की शादी करवा दी। यह पता चलने पर पुलिस ने भरतपुर जाकर छापे मारे, लेकिन पवन और लडक़ी वहां से फरार हो चुके थे। यह दोनों अभी भी फरार हैं। इस बीच पुलिस ने पूछताछ के लिए सवीता को तलब किया, जो अपने साथ कुलदीप को लेकर कल शाम महिला थाने मेें आई। पुलिस ने बताया कि सवीता ने पूछताछ में कबूल किया कि उसने सुरेश को लडक़ी की ऐवज में 50 हजार रुपये दिये थे। फिर उसकी शादी अपने भाई से करवा दी। पुलिस के अनुसार सवीता ने अपने पति सतवीर सिंह को छोड़ रखा है। वह अब कुलदीप सिंह के साथ रहती है। इन दोनों को लडक़ी को अगवा करने और शादी के नाम पर खरीदने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया है। इनका तीन दिन का रिमांड मिला है। मुख्य अभियुक्त सुरेश की अभी तलाश की जा रही है।
Tags

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.