श्रीगंगानगर
 
एक शख्स दहेज प्रताडऩा के मामले की अदालत में तारीख-पेशी भुगतकर अपनी बड़ी बहन और मामा के साथ जा रही पत्नी को सरेआम रास्ते में अगवा कर ले गया। इस शख्स ने अपने साथियों के साथ मिलकर साली और उसके मामा के साथ मारपीट भी की। पुलिस अब इस शख्स की तलाश कर रही है। साथ ही अगवा की गई युवती को बरामद करने के प्रयास किये जा रहे हैं। घटना राजियासर थाना क्षेत्र में श्रीबिजयनगर फांटा के पास विगत शनिवार दोपहर बाद हुई। पुलिस के अनुसार गांव पीपासर निवासी सुलोचना पुत्री भादरराम जाट द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर रामकुमार, राजू व कईं अन्य जनों पर अपहरण व मारपीट करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है ।पुलिस के मुताबिक सुलोचना और उसकी छोटी बहन केसरदेवी की शादी चक 3 एसएलडी-मंडी 465 हैड में एक ही घर में लगभग सात वर्ष पहले हुई थी। इन दोनों बहनों का कुछ समय पहले अपने पतियों तथा ससुराल वालों से मनमुटाव हो गया। यह बहनें अपने पीहर में आकर रहने लगीं। उन्होंने ससुराल वालों पर दहेज के लिए प्रताडि़त करने के आरोप में मुकदमा दर्ज करवा दिया। विगत शनिवार को इसी मुकदमे की सूरतगढ़ की एक अदालत में तारीख-पेशी थी। दोनों बहनें अपने मामा के साथ तारीख-पेशी भुगतने के बाद मोटरसाइकिल पर अपराह्न वापिस पीपासर जा रही थीं। आरोप है कि रामकुमार एक गाड़ी में अपने साथ राजू व तीन-चार अन्य जनों केा लेकर आया। इन सभी ने श्रीबिजयनगर फांटा के पास इनको रुकवा लिया। मारपीट कर उन्होंने केसरदेवी को जबरदस्ती गाड़ी में डाल लिया। सुलोचना और उसके मामा ने विरोध किया तो उनके साथ मारपीट की। पुलिस ने बताया कि अभी तक केसरदेवी का कुछ पता नहीं चला है।
Tags

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.