--अकेले बिहार में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 200 से ऊपर--



बिहार, उत्तर प्रदेश और असम में बाढ़ की स्थिति अब भी गंभीर है। अकेले बिहार में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 200 से ऊपर पहुँच चुकी है। केंद्र की तरफ से बचाव और राहत अभियान जारी है। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर और अन्य कई पूर्वी इलाकों में बाढ़ की स्थिति भयावह बनी हुई है। राज्य के 22 जिलों की करीब 15 लाख की आबादी बाढ़ से प्रभावित है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कल गोरखपुर के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का स्टीमर से जाकर निरीक्षण किया। इस बीच राप्ती नदी, बलरामपुर, बांसी नदी, सिद्धार्थनगर जबकि बूढ़ी राप्ती नदी ककरही में खतरे के निशान से काफी ऊपर बह रही है। तो वहीं घाघरा नदी, अम्बेडकर नगर के कई गाँव बाढ़ की चपेट में लिए हुए हैं। राज्य के 22 जिलों की करीब 15 लाख की आबादी बाढ़ से प्रभावित है वहीं बिहार में महानंदा, कोसी बागमती, गंडक और कमला बलान सहित कई नदियों का जलस्‍तर बढ़ जाने से बाढ़ की स्थिति और गंभीर हो गई है। मोतीहारी, गोपालगंज, मुजफ्फरपुर, दरभंगा और सीतामढ़ी के कुछ और इलाकों में पानी भर गया है। 18 ज़िलों के 90 लाख से अधिक लोग बाढ़ की चपेट में हैं। बाढ़ से जुड़ी घटनाओं में अब तक 200 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी हैं। मुख्‍ममंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों को बचाव और राहत कार्य युद्धस्‍तर पर किये जाने के निर्देश दिए हैं। 9 बाढ़ प्रभावित राज्यों में एनडीआरएफ़ की 113 टीमें तैनात हैं।
Tags ,

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.