डेरा सिरसा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के अदालत में होने जा रहे फैसले को लेकर हालात तनावपूर्ण हैं। हालांकि समूचे पंजाब व हरियाणा में हाई अलर्ट जारी है तथा धारा 144 लागू है। लेकिन इसके बावजूद फैसले से पहले ही लाखों की तादात में श्रद्धालू पंचकुला आ पहुंचे हैं। इससे जहां कानून व्यवस्था को खतरा होने के आसार हैं वहीं क्षेत्रीय लोगों को भी खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंधी कुछ आम लोगों द्वारा सुरक्षा की दुहाई देते हुए पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में दायर की गई पटीशन पर अदालत ने सरकार को फटकार लगाई है। हाईकोर्ट के कार्यकारी चीफ जस्टिस ने केंद्र को आदेश जारी किया है कि इस मामले में तुरंत सख्त कदम उठाए जाएं, क्योंकि हरियाणा सरकार इस मामले में असफल नजर आ रही है। उनके अनुसार केंद्र अतिरिक्त फोर्स मुहैया करे, क्योंकि हम अब दोबारा जाट आंदोलन वाला हाल हरियाणा में नहीं चाहते। कोर्ट ने कहा कि यदि सरकार कुछ नहीं कर सकती तो हम आर्मी को आदेश देते हैं। इस पर केंद्र के वकील ने उचित कदम उठाने का कोर्ट को भरोसा दिया है। कोर्ट ने कहा है कि वह तीन दिनों से जो हो रहा है, उसे अच्छी तरह देख रहे हैं। गौरतलब है कि वर्ष 2016 में जाट आरक्षण के दौरान स्थिति को नियंत्रित करने में हरियाणा सरकार असफल रहने के चलते पूरा प्रदेश हिंसा में जल उठा था तथा अरबों रुपए की सम्पत्ति जलकर खाक होने के साथ कई लोगों की जान भी चली गई थी।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.