एक्सीयन साहब नहीं तो क्या हुआ एसी पंखे तो ऑन हैं
सुपरीडेंट साहिब तो बाप रे बाप, उनके तो बंद कमरे भी सुविधाएं चालू
बंद कमरे को भी वातानुकूलित रखने के लिए चलाकर रखते हैं एसी
क्लर्क को नहीं पता साहिब चंडीगढ़ गए हैं या पटियाला 



Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.