मुख्यमंत्री द्वारा राम रहीम के मामले में अदालत के फ़ैसले से पहले ऐलान - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

POLL- PM KON ?

Tuesday, August 22, 2017

मुख्यमंत्री द्वारा राम रहीम के मामले में अदालत के फ़ैसले से पहले ऐलान



राज्य की शांति को किसी भी कीमत पर भंग नहीं करने दिया जायेगा 



शान्ति भंग करने वालों और अफ़वाहें फैलाने वालों के विरुद्ध पुलिस को कठोर कार्यवाही करने के निर्देश



    मुख्यमंत्री के निर्देशों पर डी.जी.पी. द्वारा बठिंडा में सुरक्षा प्रबंधों का जायज़ा

नई दिल्ली
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने डेरा सच्चा सौदा के मुखी राम रहीम सिंह के विरुद्ध बलात्कार के मामले में अदालत कें आने वाले फ़ैसले के संबंध में राज्य में कानून व्यवस्था को तोडऩे विरुद्ध किसी भी तरह की कोशिश विरुद्ध कठोर चेतावनी दी है।
केंद्रीय मंत्री राम विलास के पासवान के साथ मीटिंग के बाद पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार सूबे की कानून व्यवस्था को भंग करने की किसी को भी आज्ञा नहीं देगी और उन्होंने इस तरह की किसी भी कोशिश को नाकाम करन के लिए सूबा पुलिस को निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सूबे को सुरक्षा बनाई रखने के लिए केंद्र सरकार द्वारा केंद्रीय फोर्स की 75 कंपनियां प्राप्त हुई हैं और अदालत के फ़ैसले के बाद किसी भी तरह की गड़बड़ी रोकने और कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए सभी कदम उठाए जा रहे हैं।
राज्य के लोगों को शंाति बनाये रखने की अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को अदालत के फ़ैसले को स्वीकार करना चाहिए।
हरियाणा पुलिस द्वारा डेरा मुखी के विरुद्ध दर्ज किये बलातकार केस के संबंध में पंचकुला अदालत की तरफ से 25 अगस्त को फ़ैसला दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने पुलिस के डी.जी.पी. सुरेश अरोड़ा को निर्देश दिए हैं कि वह निजी तौर पर नाजुक इलाकों का दौरा करें और किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए पूरी तरह सुरक्षा प्रबंध यकीनी बनाये।
स्थिति पर समीप से नजऱ रख रहे मुख्यमंत्री ने डी.जी.पी. को आज सुबह बठिंडा और हरियाणा की सीमा के साथ लगते और नाजुक जिलों का दौरा करने और सुरक्षा प्रबंधों का जायज़ा लेने के निर्देश दिए हैं। श्री अरोड़ा ने बठिंडा में सुरक्षा प्रबंधों का जायज़ा लिया और पुलिस कर्मचारियों को चौकस रहने और सूबे में हर हालत में शांति और सदभावना को कायम रखनें के निर्देश दिए। बठिंडा के इलावा डी.जी.पी. ने मानसा, मोगा, पटियाला, लुधियाना देहाती, फतहेगढ़ साहिब और मोहाली का भी दौरा किया।
   



बठिंडा के सिरसे साथ लगते इलाके में बड़े स्तर पर पुलिस तैनात की गई है। सिरसा डेरा सच्चा सौदा का हैड क्वार्टर है। पुलिस ने सी.आर.पी.एफ. और रैपिड एक्शन फोर्स के साथ मिल कर फ्लैग मार्च किया। इस तरह का मार्च मोगा में भी किया गया। पुलिस डेरा सच्चा सौदा के पैरोकारों के साथ संपर्क में है और उनको शांति बनाये रखने की अपील की गई है।
    डी.जी.पी. को नाजुक क्षेत्रों का हवाई सर्वे करने के लिए पंजाब सरकार द्वारा हैलीकपटर उपलभ्ध कराया गया है और उनको नाजुक इलाकों के ज़मीनी हालतों पर समीप निगाह रखने के लिए निर्देश दिए गए हैं।
    मुख्यमंत्री ने स्थिति का जायज़ा लेने के लिए सुरक्षा, ख़ुफिय़ा और प्रशासकी आधिकारियों की एक उच्च स्तरीय मीटिंग की। उन्हों ने सभी आधिकारियों को अफ़वाहेंं फैलाने या भडक़ाऊ बयान देने या कार्य करने वाले तत्वों से कठोरता के साथ निपटने के निर्देश दिए।

No comments:

Post a Comment