अपडेट - भाजपा नेता सुभाष भटेजा की आत्महत्या के जिम्मेदार पांच लोगों का खुलासा पुलिस ने मामला दर्ज कर शुरू की कार्रवाई - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Tuesday, August 08, 2017

अपडेट - भाजपा नेता सुभाष भटेजा की आत्महत्या के जिम्मेदार पांच लोगों का खुलासा पुलिस ने मामला दर्ज कर शुरू की कार्रवाई


श्री मुक्तसर साहिब

 भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी कमेटी के सदस्य व पूर्व जिलाध्यक्ष सुभाष भटेजा द्वारा मंगलवार को आत्महत्या करने के मामले में पुलिस ने पांच लोगों के खिलाफ मिले सूसाइड नोट के बाद पांचों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 
 भाजपा के वरिष्ठ नेता सुभाष भटेजा का अंतिम संस्कार बुधवार को सुबह दस बजे श्री मुक्तसर साहिब के बठिंडा रोड स्थित शिवधाम में होगा।

भाजपा के वरिष्ठ नेता सुभाष भटेजा ने अपने आवस पर सल्फाश निगलकर आत्महत्या कर ली थी। सल्फास निगलने के बाद खुद सुभाष भटेजा ने भाजपा के मंडल अध्यक्ष संदीप गिरधर को 11 बजकर 59 मिनट पर फोन करके सल्फास निगल लेने के बारे में बताया। तुरंत पहुंचे संदीप गिरधर ने अन्स लोगों के साथ उन्हें दिनेश अस्पताल पहुंचाया जहां से जवाब मिलने पर उनको डॉ. मदन मोहन के गुरु नानक अस्पताल लेजाया गया लेकिन वहां पहुंचने तक सुभाष भटेजा ने दम तोड़ दिया। घटना के बाद उनके सिरहाने तले से पांच लोगों के खिलाफ लिखा सूसाइड नोट मिला।  मृतक सुभाष भटेजा के बेटे नितिन भटेजा ने बताया कि उसके पिता कोटकपूरा बाइपास पर भारतीय इंस्ट्रीयल ट्रेनिंग इंस्टीच्यूट चलाते थे। उन्होंने अपने सूसाइड नोट में लिखा है कि उनके पास इंस्टीट्यूट में अन्य कमर्मारियों के साथ थांदेवाला की एक महिला शमिंदर कौर उर्फ छिंदरपाल कौर भी काम करती थी। काम के दौरान उसके द्वारा करीब डेढ़ लाख रुपये का घौटाला कर देने कारण उसे नौकरी से हटा दिया गया। जिसके बाद अपने पति रुपिंदर सिंह व ससुर जंगीर सिंह सहित कॉलेज आकर उसने उनके खिलाफ कार्रवाई की धमकियां दी तथा उसने



एक शिकायत पुलिस को दी थी। शिकायत में उसने उ पर एक लाख 92 हजार रुपये वेतन न देने के साथ उसके भाई को नौकरी दिलाने के नाम पर दो लाख रुपये हड़पने के आरोप भी लगा डाले। इस मामले में  मंगलवार की बाद दोपहर करीब तीन बजे पुलिस के ईओ विंग ने उसके पिता को बुलाया था। जिससे वह काफी आहत थे। इसके अलावा सूसाइड नोट में सरकार से एससी बच्चों की स्कालरशिप के 2015-16 व 2016-17 के करीब 26 लाख रुपये नहीं मिलने की परेशानी के साथ डाली खेड़ा तथा रवि भटेजा के साथ झगड़ा भी परेशानी की वजह बताया है।

डाली खेड़ा द्वारा ना तो प्लाट दिया और ना ही करीब 16 लाख रुपये वापिस लौटाए गए जबकि रवि भटेजा ने कॉलेज वाली जगह को लेकर पंचायत में हुए समझौते के बावजूद 16 लाख रुपये नहीं दिए थे। जिस कारण वह आर्थिक व मानसिक तौर पर परेशान था। सूसाइड नोट के अनुसार उक्त पांच लोगों से आहत होकर ही उसने अपनी जीवन लीला समाप्त की है। सूचना पाकर पहुंचे डीएसपी गुरतेज सिंह ने मौके का जायजा लिया। थाना सिटी प्रभारी जतिंदरपाल सिंह ने बताया कि पुलिस द्वारा शमिंदर कौर, उसके पति रुपेंदर सिंह, ससुर जंगीर सिंह, डाली खेड़ा व रवि भटेजा के खिलाफ मामला दर्ज कर फिलहाल कार्रवाई शुरु कर दी गई है।









No comments:

Post a Comment