-अमेरिका में इरमा तूफान के फ्लोरिडा में पहुंचने के बाद इसकी तीव्रता कम हो गई है -

कैरेबियाई क्षेत्र में तबाही मचाने के बाद तूफान इरमा रविवार को फ्लोरिडा राज्य के दक्षिणी द्वीप समूह से टकराया। तूफान जनित घटनाओं के कारण 3 लोगों की मौत हो गई और तूफान के मद्देनजर भारतीय मूल के हजारों अमेरिकी नागरिकों समेत लाखों लोगों को राज्य से बाहर निकाला गया। फ्लोरिडा गल्फ कोस्ट के उत्तर पश्चिम की ओर जाने से पहले 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से इरमा तूफान के निचले फ्लोरिडा कीज से टकराने की आशंका है। इसकी वजह से तेज हवाएं चल रही हैं। तूफान की निगरानी करने वाले केंद्र ने कहा, जानलेवा तूफान के चलते फ्लोरिडा कीज समेत फ्लोरिडा पश्चिम तट के अधिकतर हिस्सों के आस पास बाढ़ आने का खतरा है, जहां तूफान के मद्देनजर चेतावनी जारी की गई है। सुबह श्रेणी-4 के इस तूफान के फ्लोरिडा से टकराते ही राज्य में कम से कम तीन लोगों के मरने की रिपोर्ट मिली।

Photo - Nikki Hundal
Photo - Nikki Hundal
तूफान के चलते मची तबाही को देखते हुए 63 लाख से अधिक लोगों को फ्लोरिडा छोड़ने के लिए कहा गया है क्योंकि इसके मार्ग में आने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए यह जानलेवा हो सकता है। इरमा पहले ही कैरेबियाई क्षेत्र के कई हिस्सों को तबाह कर चुका है और इसके चलते 25 लोगों की मौत हो गई है। कैरेबियाई क्षेत्र में सेंट मार्टिन द्वीप से करीब 60 भारतीय नागरिकों को बचाया गया है।
फ्लोरिडा भर में करीब 120,000 भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक रहते हैं जबकि इनमें से हजारों नागरिक खतरे की दृष्टि से संवेदनशील मियामी, फोर्ट लॉडरडेल और टाम्पा में मौजूद हैं। अटलांटा और आस पास के इलाकों में रहने वाले भारतीय मूल के अमेरिकी लोगों ने आज अपने दोस्तों, परिजनों और फ्लोरिडा से समुदाय के सदस्यों के लिए अपने अपने घरों के द्वार खोल दिए।
अटलांटा क्षेत्र में कम से कम चार मंदिरों ने फ्लोरिडा से आये लोगों के लिये अपने द्वार खोल दिए हैं। यहां के बड़े हिस्से में मौजूद लोगों को राज्य सरकार ने जगह खाली करने के लिये कहा था। इस बीच डच प्रधानमंत्री मार्क रुट ने आज कहा कि तूफान इरमा के कैरेबियाई द्वीप सेंट मार्टिन के डच हिस्से से टकराने के कारण अब वहां मरने वालों की संख्या बढ़कर 4 हो गई है। 
Tags ,

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.