राष्ट्रपित द्वारा ‘बहादुरी पुरस्कार’ विजेता पिता ना बचा सका अपनी बेटी की जान - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Tuesday, September 19, 2017

राष्ट्रपित द्वारा ‘बहादुरी पुरस्कार’ विजेता पिता ना बचा सका अपनी बेटी की जान

80 प्रतिशत सडऩे कारण पहले दोनों बाजू तथा फिर काटे पैर, पर फिर भी ना बच पाई मोनिका
नगर कौंसल जंडियाला गुरु तथा एक्सियन पीएसपीसीएल की अनदेखी ने ली दलित बेटी की जान
भाजपा ने नेशनल एस.सी. कमीशन के पास पहुंचाया मामला
बीजेपी एस.सी. मोर्चे ने पीडि़त परिवार को इंसाफ दिलाने के लिए खोला मोर्चा
 
 
चंडीगढ़, 18 सितंबर ( bttnews): पंजाब स्टेट पावर कार्पोरेशन की नलायकी के कारण 11000 हाई वोल्टेज बिजली की तारों की चपेट में आई एम.सी.ए. पास एक दलित लडक़ी को ‘बहादुरी पुरस्कार’ विजेता पिता भी नहीं बचा सका। करंट इतना जबरदस्त था कि इलाज के दौरान पहले लडक़ी के दोनों हाथ तथा पैर को काटा गया, पर फिर भी वह नहीं बच पाई। मामला है अमृतसर के अधीन पड़ते कस्बा जंडियाला गुरु का। आज पीडि़त परिवार को इंसाफ दिलाने के लिए भाजपा प्रदेश सचिव विनीत जोशी तथा भाजपा के एस.सी. मोर्चा के उपाध्यक्ष बलविंदर गिल ने नेशनल एस.सी. कमीशन के समक्ष इसकी शिकायत दी। 
नेशनल एस.सी. कमीशन के क्षेत्रीय कार्यालय के बाहर भाजपा नेता विनीत जोशी ने बताया कि कैसे पंजाब स्टेट पावर कार्पोरेशन की लापरवाही के कारण एक नौजवान लडक़ी को अपनी जान गवानी पड़ी। जोशी ने बताया कि बिजली विभाग की लापरवाही का खमियाजा देश के राष्ट्रपति से ‘बहादुरी पुरस्कार’ हासिल करने वाले गोविंद सिंह तथा उसके परिवार को भुगतना पड़ा है, जो कि एक तरफ देश की सेवा करके बहादुरी पुरस्कार हासिल करता रहा, परंतु दूसरी तरफ अपनी बेटी की मौत का कारण बने विभाग के अधिकारियों से इंसाफ के लिए दर-दर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर है।
इस अवसर पर जंडियाला गुरु के रहने वाले पीडि़त परिवार जिसमें मृतक लडक़ी मोनिका के पिता बी.एस.एफ. में उप पुलिस अधीक्षक गोविंद ङ्क्षसह तथा उसकी माता रजवंत कौर, भाई करन जोहन ने बताया कि वह कस्बे के वार्ड नंबर एक में रहते हैं, उनके नगर कौंसल द्वारा नक्शा पासशुदा घर के ऊपर बिजली विभाग की 11000 हाई वोल्टेज बिजली की तारें गुजरती हैं, जिसकी शिकायत कई बार इलाकावासियों द्वारा बिजली विभाग व नगर कौंसल को दी जा चुकी है।  उन्होंने बताया कि बीती 9 सितंबर को उनकी लडक़ी घर की पहली मंजिल पर छत पर कपड़े सुखाने के लिए गई थी, जहां छत से गुजर रही हाईवोल्टेज तारें जिसका खंभा झुका होने के कारण तारें हवा के झोल के कारण उनके घर को टच कर गईं, जिस कारण उनकी नौजवान लडक़ी बिजली की चपेट में आकर 80 प्रतिशत जल गई, जिसको उन्होंने तुरंत अस्पताल में दाखिल करवाया। उन्होंने बताया कि अस्पताल में इलाज दौरान उनकी लडक़ी के पहले दोनों बाजू तथा फिर टांगे काट दी गईं, परंतु इसके बावजूद भी वह उपचाराधीन उसी दिन रात को दम तोड़ गई।
पीडि़त परिवार ने बताया कि उनकी बेटी मानावाला में स्थित इंजीनियङ्क्षरग कालेज में एम.सी.ए. में 82 प्रतिशत नंबर प्राप्त कर चुकी है तथा वह भी अपने पिता की तरह देश की सेवा करने की इच्छुक थी। पुलिस ने इस मामले में धारा-174 अधीन कार्रवाई करते हुए मामले को बंद कर दिया, परंतु पीडि़त परिवार ने आरोप लगाया कि उनकी लडक़ी की मौत का जिम्मेदार सीधे तौर पर जंडियाला गुरु के नगर कौंसल तथा पंजाब स्टेट पावर कार्पोरेशन के एक्सियन हैं।
इस अवसर पर नेशनल एस.सी. कमीशन के क्षेत्रीय डायरेक्टर राजकुमार ने भाजपा नेता विनीत जोशी तथा एस.सी. मोर्चे के उपाध्यक्ष बलविंदर गिल के साथ आए पीडि़त परिवार को भरोसा दिलाया कि मामले की उच्च स्तरीय जांच करवाकर इस हादसे का कारण बने उक्त विभागों के अधिकारियों को बख्शा नहीं जाएगा। 

===================
राष्ट्रपित द्वारा ‘बहादुरी पुरस्कार’ विजेता पिता ना बचा सका अपनी बेटी की जान
80 प्रतिशत सडऩे कारण पहले दोनों बाजू तथा फिर काटे पैर, पर फिर भी ना बच पाई मोनिका
नगर कौंसल जंडियाला गुरु तथा एक्सियन पीएसपीसीएल की अनदेखी ने ली दलित बेटी की जान
भाजपा ने नेशनल एस.सी. कमीशन के पास पहुंचाया मामला
बीजेपी एस.सी. मोर्चे ने पीडि़त परिवार को इंसाफ दिलाने के लिए खोला मोर्चा
चंडीगढ़, 18 सितंबर (bttnews ): पंजाब स्टेट पावर कार्पोरेशन की नलायकी के कारण 11000 हाई वोल्टेज बिजली की तारों की चपेट में आई एम.सी.ए. पास एक दलित लडक़ी को ‘बहादुरी पुरस्कार’ विजेता पिता भी नहीं बचा सका। करंट इतना जबरदस्त था कि इलाज के दौरान पहले लडक़ी के दोनों हाथ तथा पैर को काटा गया, पर फिर भी वह नहीं बच पाई। मामला है अमृतसर के अधीन पड़ते कस्बा जंडियाला गुरु का। आज पीडि़त परिवार को इंसाफ दिलाने के लिए भाजपा प्रदेश सचिव विनीत जोशी तथा भाजपा के एस.सी. मोर्चा के उपाध्यक्ष बलविंदर गिल ने नेशनल एस.सी. कमीशन के समक्ष इसकी शिकायत दी। 
नेशनल एस.सी. कमीशन के क्षेत्रीय कार्यालय के बाहर भाजपा नेता विनीत जोशी ने बताया कि कैसे पंजाब स्टेट पावर कार्पोरेशन की लापरवाही के कारण एक नौजवान लडक़ी को अपनी जान गवानी पड़ी। जोशी ने बताया कि बिजली विभाग की लापरवाही का खमियाजा देश के राष्ट्रपति से ‘बहादुरी पुरस्कार’ हासिल करने वाले गोविंद सिंह तथा उसके परिवार को भुगतना पड़ा है, जो कि एक तरफ देश की सेवा करके बहादुरी पुरस्कार हासिल करता रहा, परंतु दूसरी तरफ अपनी बेटी की मौत का कारण बने विभाग के अधिकारियों से इंसाफ के लिए दर-दर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर है।
इस अवसर पर जंडियाला गुरु के रहने वाले पीडि़त परिवार जिसमें मृतक लडक़ी मोनिका के पिता बी.एस.एफ. में उप पुलिस अधीक्षक गोविंद ङ्क्षसह तथा उसकी माता रजवंत कौर, भाई करन जोहन ने बताया कि वह कस्बे के वार्ड नंबर एक में रहते हैं, उनके नगर कौंसल द्वारा नक्शा पासशुदा घर के ऊपर बिजली विभाग की 11000 हाई वोल्टेज बिजली की तारें गुजरती हैं, जिसकी शिकायत कई बार इलाकावासियों द्वारा बिजली विभाग व नगर कौंसल को दी जा चुकी है।  उन्होंने बताया कि बीती 9 सितंबर को उनकी लडक़ी घर की पहली मंजिल पर छत पर कपड़े सुखाने के लिए गई थी, जहां छत से गुजर रही हाईवोल्टेज तारें जिसका खंभा झुका होने के कारण तारें हवा के झोल के कारण उनके घर को टच कर गईं, जिस कारण उनकी नौजवान लडक़ी बिजली की चपेट में आकर 80 प्रतिशत जल गई, जिसको उन्होंने तुरंत अस्पताल में दाखिल करवाया। उन्होंने बताया कि अस्पताल में इलाज दौरान उनकी लडक़ी के पहले दोनों बाजू तथा फिर टांगे काट दी गईं, परंतु इसके बावजूद भी वह उपचाराधीन उसी दिन रात को दम तोड़ गई।
पीडि़त परिवार ने बताया कि उनकी बेटी मानावाला में स्थित इंजीनियङ्क्षरग कालेज में एम.सी.ए. में 82 प्रतिशत नंबर प्राप्त कर चुकी है तथा वह भी अपने पिता की तरह देश की सेवा करने की इच्छुक थी। पुलिस ने इस मामले में धारा-174 अधीन कार्रवाई करते हुए मामले को बंद कर दिया, परंतु पीडि़त परिवार ने आरोप लगाया कि उनकी लडक़ी की मौत का जिम्मेदार सीधे तौर पर जंडियाला गुरु के नगर कौंसल तथा पंजाब स्टेट पावर कार्पोरेशन के एक्सियन हैं।
इस अवसर पर नेशनल एस.सी. कमीशन के क्षेत्रीय डायरेक्टर राजकुमार ने भाजपा नेता विनीत जोशी तथा एस.सी. मोर्चे के उपाध्यक्ष बलविंदर गिल के साथ आए पीडि़त परिवार को भरोसा दिलाया कि मामले की उच्च स्तरीय जांच करवाकर इस हादसे का कारण बने उक्त विभागों के अधिकारियों को बख्शा नहीं जाएगा।

No comments:

Post a Comment