दिल्ली में पहली बार हुक्का बार बंद करवाने को समर्थन जुटाने के लिए लगेगी प्रदर्शनी

गुरप्रीत सिंह  (फाइल फोटो )
(नई दिल्ली) -     देश की राजधानी दिल्ली में पहली बार लोग ऐसी प्रदर्शनी देखेंगे जिसका मकसद दिल्ली में हुक्का बार पर मुकम्मल पाबंदी लागू करवाने के लिए समर्थन जुटाना है। यह प्रदर्शनी दिल्ली के विधायक और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के महासचिव मनजिंदर सिंह सिरसा द्वारा लगाई जा रही है।
स. सिरसा ने बताया कि यह प्रदर्शनी 22 सितम्बर को 11.00 बजे कनाट प्लेस नजदीक पालिका बाजार नई दिल्ली में लोगों के लिए लगाई जा रही है। प्रदर्शनी हुक्का पीने से शरीर पर पडऩे वाले दुष्प्रभाव बारे लोगों को जानकारी देगी और इसका मुख्य मसकद दिल्ली में हुक्का बारों पर मुकम्मल पाबंदी लागू करवाना है। उन्होंने बताया कि वह यह प्रदर्शनी नौजवान गुरप्रीत सिंह को समर्पित कर रहे हैं जिसने दिल्ली में सार्वजनिक स्थानों पर सिगरटनोशी का विरोध करते हुए अपनी जान गंवाई।
उन्होंने ओर कहा कि हुक्का पीना सिग्रेट पीने की अपेक्षा कहीं ज़्यादा खतरनाक है। उन्होंने बताया कि एक सैशन में ही एक व्यक्ति 150 सिग्रेटों जितना नशा अंदर खींच लेता है। उन्होंने कहा कि 13 से 15 साल की उम्र के अल्हड़ नौजवान हुक्का पीने के सब से अधिक आदि हैं और बहुत निंदनीय बात है कि हर रोज 2500 व्यक्ति इस आदत के कारण मौत के मुंह में पड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा और पंजाब पहले ही अपने राज्यों में हुक्का बारों पर पाबंदी लगा चुके हैं।
उन्होंने बताया कि समाज की कई अहम हस्तियां जिन में जनरल जे.जे. सिंह पूर्व प्रमुख भारतीय फौज, मनोज तिवाड़ी एम.पी. और प्रधान दिल्ली भाजपा, के.टी.एस. तुलसी वकील और एम.पी., प्रवेश साहब सिंह वर्मा एम.पी., मनजीत सिंह जी.के. प्रधान दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी, महेश गिरी एम.पी., विक्रमजीत सिंह साहनी पदमश्री और अंजना ओम कश्यप पत्रकार ने दिल्ली में हुक्का बारों के खिलाफ मुहिम शुरू करने और इसकी हिमायत करने का फैसला किया है।
स. सिरसा ने कहा कि प्रदर्शनी का मकसद लोगों को इस आदत के बुरे प्रभाव से अवगत करवाना और हुक्का बारों पर पाबंदी लगवाने के लिए सरकार पर दबाव डालने के लिए समर्थन जुटाना है।



 

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.