संगरिया 
 
हनुमानगढ़ जिले में संगरिया थाना क्षेत्र के गांव नगराना में आज सुबह नाली के पास एक नवजात शिशु जीवित पड़ा मिला। यह देखकर लोग हैरान रह गये। कुछ ही देर मेें यह खबर नगराना ही नहीं, बल्कि आसपास के गांवों में भी फैल गई। शिशु को गांव वाले तुरंत ही संगरिया के सरकारी अस्पताल में ले गये, जहां डॉक्टरों ने उसका चैकअप किया। यह शिशु पूरी तरह से स्वस्थ है। इस सम्बंध मेें पुलिस ने अज्ञात महिला पर पैदाइश को छिपाने और बच्चे को मारने की नियत से लावारिस फेंक देने का मामला दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार सुबह करीब 6 बजे नगराना में पालाराम कुम्हार का परिवार सोकर उठा, तो उन्हें किसी शिशु के रोने की आवाज सुनाई दी। बाहर आकर देखा तो घर के नजदीक नाली के पास ही रुईं-कपड़े में लिपटा नवजात शिशु रो रहा था। शिशु के शरीर पर खून लगा हुआ था। इस शिशु को रात्रि के समय कोई नाली के पास छोडक़र चला गया। पालाराम के परिवार ने आसपास के लोगों को इसकी जानकारी दी। कुछ ही देर में वहां भीड़ लग गई। इस बीच थाने में सूचना दे दी। साथ ही गांव वाले इस शिशु को संगरिया के अस्पताल मेें ले गये। पुलिस ने बताया कि इस शिशु का जन्म लगता है कुछ ही घंटे पहले हुआ था। किसी मजबूरी के चलते इस शिशु को उसकी मां ने इस तरह लावारिस फिंकवाया होगा। शिशु लडक़ा है। अस्पताल में उसकी पूरी देखभाल की जा रही है। अस्पताल में भी इस शिशु को देखने आने वालों का तांता लगा हुआ है। पुलिस ने धारा 317 के तहत अज्ञात महिला पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस शिशु के मिलने की जानकारी जिला बाल संरक्षण समिति के अध्यक्ष व अन्य पदाधिकारियों को दी गई है। शिशु की देखभाल की जिम्मेवारी अब यह बाल संरक्षण समिति कर रही है। उधर, पुलिस पता लगाने में जुट गई है कि कल बुधवार से इस क्षेत्र मेें किसी के यहां कोई डिलीवरी तो नहीं हुई। इस बीच ग्रामीणों का कहना है कि इन दिनों गांव मेें नरमा-कपास की चुगाई की मजदूरी करने के लिए दूसरे इलाकों से काफी लोग आये हुए हैं। इस बात को भी पुलिस ध्यान में रखे हुए हैं।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.