एक युवक को बचा लिया गया, पांच पानी में बहे

 बहने वालों में दो महिलाएं व दो बच्चे शामिल

हनुमानगढ़

 
हनुमानगढ़ जिले में लक्खुवाली के पास शुक्रवार देर शाम को एक तेज रफ्तार इनोवा गाड़ी बेकाबू हो गई। यह इनोवा इन्दिरा गांधी नहर में जा गिरी। इनोवा मेें एक ही परिवार के छह सदस्य सवार थे। इनमेें एक युवक को बचा लिया गया। दो महिलाओं व दो बच्चों सहित पांच जने गाड़ी में ही हैं, जो नहर में डूब गये हैं। मौके पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारी पहुंच गये हैं। गाड़ी को बाहर निकालने के लिए जतन किये जा रहे हैं। हनुमानगढ़ जिले में ही संगरिया थाना क्षेत्र के गांव खाट का निवासी यह परिवार सीकर जिले में सालासर में बालाजी के मन्दिर में धोक लगाकर वापिस आ रहा था। देर रात मौके पर मौजूद हनुमानगढ़ टाऊन थानाप्रभारी अनवर मोहम्मद ने बताया कि गाड़ी को बाहर निकालने की कोशिश की जा रही है। गाड़ी के अंदर दो महिलाओं व दो बच्चों के साथ एक पुरुष है, जिनके बचने की उम्मीद न के बराबर है। उन्होंने बताया कि यह परिवार वापिस अपने गांव खाट जा रहा था। मेगा हाइवे पर लक्खुवाली के नजदीक इनकी इनोवा बेकाबू हो गई। लक्खुवाली में इन्दिरा गांधी नहर के पुल से कुछ ही पहले बेकाबू हुई इनोवा बायीं तरफ नहर में जा गिरी।


लक्खुवाली में पुलिस चौकी प्रभारी एसआई फरसाराम ने बताया कि लोगों ने इस इनोवा को नहर में गिरते हुए देखा, उन्होंने शोर मचा दिया। जब यह गाड़ी नहर में गिर रही थी, तभी इसकी एक खिडक़ी खुल गई। खिडक़ी के पास ही बैठा युवक नहर के अंदर किनारे के पास ही गिर गया। चौकी में मौजूद पुलिसकर्मी भागकर नहर पर पहुंचे। यह पुलिसकर्मी चौकी से एक कुंडी साथ ही ले गये थे। इस कुंडी को नहर में फेंकने पर किनारे पर गिरे युवक ने उसे पकड़ लिया, जिसे बाहर निकाल लिया गया। यह युवक जगदीश (30) पुत्र सुल्तानराम निवासी खाट है। बाहर निकाले जाने पर उसे जैसे ही ऐहसास हुआ कि उसके परिवार के पांच सदस्यों सहित इनोवा नहर में समा गई है, वह बदहवास हो गया। उसे बेहोशी के दौरे पडऩे लगे। जगदीश को तत्काल 108 की एम्बुलेंस से हनुमानगढ़ टाऊन सिविल अस्पताल रवाना कर दिया गया। जगदीश ने बदहवासी की हालत में बताया कि गाड़ी में उसके परिवार की दो महिलाएं, दो बच्चे व एक पुरुष है। वह इनके नाम नहीं बता पाया। मौके पर हनुमानगढ़ के डीएसपी वीरेन्द्र जाखड़ और रावतसर थानाप्रभारी पुष्पेन्द्र सिंह भी दलबल सहित पहुंच गये हैं। बड़ी संख्या में गांव वाले इकट््ठे हो रखे हंै। रात को ही फल्ड लाइटों का इंतजाम कर गाड़ी को ढूंढकर बाहर निकालने की कोशिशें की जा रही हैं।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.