बाबा जिस मुनि का चेला, वह मुनि भी अपने चेले के साथ गायब

श्रीबिजयनगर 
 
श्रीगंगानगर जिले के श्रीबिजयनगर थाना क्षेत्र में एक डेरे का बाबा गांव की 18-19 वर्षीय युवती को लेकर गायब हो गया। यह बाबा जिस मुनि का चेला है, वह मुनि भी अपने एक चेले के साथ गायब है। दो दिन से युवती के परिवार वाले श्रीबिजयनगर थाना के चक्कर काट रहे हैं, लेकिन पुलिस मामला दर्ज करने से ही गुरेज कर रही है।
 प्राप्त जानकारी के अनुसार श्रीगंगानगर जिले में दो-अढ़ाई दशक पहले अपनी जमीनों को लेकर काफी चर्चित-विवादस्पद रहे एक डेरे के संचालक साधु ने श्रीबिजयनगर थाना क्षेत्र में चक 32 जीबी के पास डेरा बनाया हुआ है। यह डेरा भी उक्त साधु के डेरे के अधीन ही है। करीब 45 वर्षीय डेरे का यह बाबा विगत गुरुवार से गायब है। उसी दिन से ही इस गांव की 18-19 वर्षीय युवती भी लापता है। बताते हैं कि यह युवती इस डेरे में आया-जाया करती थी। जिस दिन यह युवती गायब हुई, उसके माता-पिता उसके लिए रिश्ता ढूंढने खाजूवाला में गये हुए थे। घर में युवती के साथ उसका 10-11 वर्षीय भाई था। खाजूवाला से वापिस आने पर माता-पिता ने दो दिन तक पड़ताल की कि उनकी पुत्री कहां चली गई। बाबा के भी गायब होने का पता चला, तो उन्हें शक हुआ कि वहीं उनकी पुत्री को भगा ले गया है। इस बीच पता चला कि मुख्य डेरे के संचालक साधु-मुनि को लेकर उसका एक चेला कहीं चला गया है। यह चेला, चक 32 जीबी के डेरे के बाबा का ही भाई है। वह अपने भाई और युवती को तलाश करने का कहकर मुनि को अपने साथ ले गया। तब से इन दोनों का भी नहीं पता। विगत रविवार को इसकी रिपोर्ट श्रीबिजयनगर थाने में दी गई, लेकिन पुलिस ने पहले जांच करने का तय कर मामला दर्ज नहीं किया। आज मंगलवार दोपहर बाद पीडि़त पक्ष फिर से थाने में पहुंचा। इस बार उनके साथ और भी कईं मौजिज व्यक्ति साथ आये। थानाप्रभारी के थाने में न होने के कारण उन्हें इंतजार करने के लिए कहा गया। बताया गया कि थानाप्रभारी किसी जरूरी काम से रायसिंहनगर में गये हुए हैं। उनके आने पर ही मामला दर्ज किया जायेगा। देर रात समाचार लिखे जाने तक थानाप्रभारी थाने में नहीं आये थे। पीडि़त पक्ष इंतजार कर रहा था।
Tags ,

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.