जीरा और गुड हमारे घरों में होता है. इनका इस्तेमाल हम खाना बनाने के लिए करते है. लेकिन क्या आपको पता है गुड और जीरे का पानी आपको और आपके परिवार को कई गंभीर छोटी-छोटी बीमारियों से बचा सकता है जिसकी वजह से आप लोग परेशान हो जाते हो. गुड़ और जीरा, दोनों ही स्वाद के साथ-साथ सेहत से जुड़े फायदों के लिए प्रयोग किए जाते हैं. इनके अलग-अलग लाभ तो आपने जरूर सुने होंगे और जीरे के पानी के लाभ भी जानें होंगे, लेकिन आज गुड़ और जीरे के पानी के लाभ भी जान लीजिए वैदिक वाटिका आपको बता रही है किन-किन बीमारियों से बच सकते हो गुड़ और जीरे के पानी से. कैसे बनता है गुड और जीरे का पानी : बहुत ही आसान तरीके से बना सकते हैं आप इस आयुवेर्दिक पानी को. इसके सबसे पहले आप एक पतीले या बर्तन में दो कप पानी डाल दें और इसमें एक चम्मच गुड का चूरा और एक चम्मच जीरे को मिलाकर इसे अच्छी तरह से उबाल लें. और बाद में इसे किसी कप में डाल दें. अब आप इस पानी को पी सकते हैं. कब करना है सेवन : इस आयुवेर्दिक पानी को रोज सुबह के खाने से पहले एक कप पीएं. शरीर में खून की कमी को पूरा करने के लिए गुड़ और जीरे का यह पानी काफी लाभप्रद है. अगर आपको खून की कमी या एनिमिया की समस्या हो, तो इसे जरूर पिएं. पेट की समस्याओं जैसे कब्ज, गैस, पेट फूलना और पेट दर्द आदि के लिए गुड़ और जीरे का यह पानी काफी फायदेमंद साबित होगा. धीरे-धीरे आपकी यह समस्याएं खत्म हो जाएंगी. शरीर की अंदरूनी सफाई करने के साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में गुड़ और जीरे का पानी लाभदायक होता है. यह शरीर से अवांछित तत्वों को निकालकर आंतरिक अंगों की सफाई करता है. शरीर के विभिन्न अंगों में दर्द होने पर यह पानी कारगर उपाय है. यह शारीरिक दर्द में राहत दिलाने में मददगार साबित होता है और महिलाओं में मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द में भी राहत देता है. बुखार, सर्दी व सिरदर्द होने की स्थ‍िति में भी गुड़ और जीरे का यह पानी बेहद फायदेमंद साबित होता है. बुखार आने पर इसका सेवन जल्द राहत दिलाने में सहायक है.

Tags

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.