आग लगने से तीन दुकानें जलकर राख - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

POLL- PM KON ?

Monday, October 02, 2017

आग लगने से तीन दुकानें जलकर राख

- डबलीराठान में रात को हुई घटना
हनुमानगढ़

हनुमानगढ़ जिले में डबलीराठान कस्बे मेें सोमवार बड़े तडक़े एक साथ तीन दुकानें जलकर स्वाह हो गई। इन तीनों दुकानों के मालिकों का इस अग्निकांड में 15 से 20 लाख का नुकसान हो गया। इनमें एक दुकान मोबाइल फोन की थी, जिसे उसके मालिक सचिन ठठई ने कुछ ही दिन पहले शुरू किया था। प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार सुबह करीब 4 बजे एक न्यूजपेपर का हॉकर तेजासिंह अखबार बांटने के लिए निकला था, तब उसने मेन बाजार में राजीव चौक के पास स्थित एक दुकान में धुआं और आग की लपटें निकलते हुए देखीं।
 तेजासिंह ने तुरंत कस्बे के ही एक मीडियाकर्मी को फोन करके आग लगने के बारे में बताया। इस मीडियाकर्मी की सूचना पर दुकानदार, कस्बे के लोग भागकर आये। इस बीच एक एडवोकेट ने डबलीराठान चौकी में जाकर वहां सोये हुए पुलिसकर्मियों को उठाया। उधर, हनुमानगढ़ से सूचना मिलते ही दमकल विभाग के कर्मचारी दो फायर टेंडर लेकर रवाना हो गये। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक दमकल के आने से पहले कस्बे के लोग ही पानी और मिट्टी डालकर आग बुझाने के प्रयास करते रहे। पानी की कमी पड़ जाने पर वाटरवक्र्स कर्मियों को कहकर बाजार एरिया की सप्लाई शुरू करवाई गई। दमकल वाहन सुबह छह-सवा 6 बजे 15 मिनट के अंतराल पर पहुंचे। इसके बाद आग बुझाने के प्रयास तेज कर दिये गये। करीब आठ बजे आग पर काबू पा लिया गया। इस अग्निकांड में सचिन ठठई की मां कम्यूनिकेशन नाम से मोबाइल शॉप, अमित चलाना की डिस्पोजल वस्तुओं की दुकान तथा किशन परनामी की वैरायटी स्टोर की दुकान भी स्वाह हो गई। इनका लाखों का नुकसान हो गया।

कस्बा निवासी कृष्ण मरेजा, विक्की ठठई आदि ने आग बुझाने के लिए काफी प्रयास किये। इसमें से किस दुकान मेें पहले आग लगी, इसका कोई अंदाजा नहीं है। माना यह जा रहा है कि बिजली की तारों में शॉर्ट सर्किट हो जाने से आग लगी। इनमें डिस्पोजल वस्तुओं तथा मोबाइल शॉप एक लम्बी आर-पार की दुकान में आगे व पीछे के हिस्सों में चलाई जा रही थी। बीच में प्लाइवुड से पार्टीशन किया हुआ था। ज्यादातर डिस्पोजल वस्तुएं प्लास्टिक की होने के कारण आग बड़ी तेजी से विकराल रूप धारण कर गई। इस वजह से उस पर काबू पाने में मुश्किल आई।

No comments:

Post a Comment