Type Here to Get Search Results !

पहले किसान परेशान थे और अब आने जाने वाले यात्री

अमरजीत माखा, मानसा 

 आवारा पशुओं को लेकर मानसा शहर के लोग काफी चिंतित है आवारा पशुओं से पहले किसान परेशान थे और अब आने जाने वाले यात्री काफी परेशानी का सामना कर रहे हैं आवारा पशुओं के कारण मानसा जिले में काफी जानलेवा एक्सीडेंट भी हो चुके हैं जिसके कारण पिछले 6 महीनों में करीब 6 व्यक्तियों की मौत हो चुकी है
इस शहर के लोगों का कहना है कि जिला प्रशासन की और बिल्कुल ध्यान नहीं दिया जा रहा जिसके चलते आवारा पशुओं की गिनती दिनों दिन बढ़ रही है कुछ साल पहले लाखों रुपए लगा कर गौशाला बनाई गई आवारा पशुओं के कारण पहले भी किसान जत्थेबंदीओ की ओर से सरकार और प्रशासन के खिलाफ धरना प्रदर्शन हो चुका है गौशाला के बाद भी आवारा पशुओं से लोगों को निजात नहीं मिली। कई बार तो आवारा पशु जिला प्रबंधकी कंपलेक्स  में भी घुस जाते हैं


आवारा पशुओं की परेशानी से दुखी होकर जिले के लोगों ने डिप्टी कमिश्नर मानसा की ओर से आवारा पशुओं का हल ना करने को लेकर सोशल मीडिया में अलग-अलग तरह के कमेंट लिख रहे हैं लोगों का कहना है कि प्रशासन का आवारा पशुओं की ओर बिल्कुल ध्यान नहीं है जिसके चलते दिनोदिन बड़े बड़े हादसे हो रहे हैं।
दूसरी और कल मानसा के विधायक नाजर सिंह मानसाहीआ से बात हुई तो उन्होंने बताया कि आवारा पशुओं की परेशानी के चलते उन्होंने प्रशासन को एक चेतावनी लेटर भी भेजा है और उन्होंने यह चेतावनी लेटर आपने फेसबुक भी अपडेट किया हुआ है उन्होंने इस लेटर में लिखा हुआ है कि अगर आवारा पशुओं का कोई हल नहीं किया गया तो शहरवासी मजबूर होकर जिला प्रशासन के खिलाफ रोष प्रदर्शन करेंगे जिसका जिम्मेवार जिला प्रशासन होगा।
दूसरी और जब इस मामले में जिले के डिप्टी कमिश्नर धर्मपाल गुप्ता से बात की गई तो उन्होंने बताया कि हम आवारा पशुओं के लिए अपनी तरफ से पूरा प्रबंध कर रहे हैं और काफी पशुओं को खोखर कला गौशाला में छोड़ा गया है और जोआवारा पशु सड़कों पर घूम रहे हैं उसके लिए हम कोई और उचित प्रबंध कर रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.