चंडीगढ़

सुच्चा सिंह लंगाह की करतूतों के चलते उनसे किनारा करने के बाद अब अकाली भाजपा गठबंधन की मुश्किलें स्वर्ण सलारियां के संबंधों के सुर्खियों में आने से बढ़ गई हैं। गुरदासपुर लोकसभा क्षेत्र से उपचुनाव लड़ रहे भाजपा प्रत्याशी स्वर्ण सलारिया पर सालों तक कथित शारीरिक संबंध बनाने के बाद शादी से इंकार कर देने व रेप का आरोप लगाने वाली महिला ने वीरवार को सर्वोच्च अदालत का दरवाजा खटखटाया।
 सर्वोच्च अदालत ने पीडि़ता की याचिका को स्वीकार कर लिया है। उधर पीडि़ता द्वारा सार्वजनिक की गई अंतरंग संबंधों की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने के चलते सलारिया सुर्खियों में आ गए हैं। पीडि़ता ने स्वर्ण सलारिया के साथ 1982 से 2014 तक संबंधों के आरोप लगाए हैं।
उसके अनुसार इस दौरान शादी का झांसा देकर सलारिया ने उसे हवस का शिकार बनाया और 2014 में कह दिया कि वह उससे शादी नहीं करेगा। इसके बाद उसे मुंबई में पेइंग गेस्ट के तौर पर रखा गया और बाद में फ्लैट लेकर दिया गया। पीडि़ता ने सलारिया पर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। हालांकि इस संबंध में स्वर्ण सलारिया से संपर्क नहीं हो पाया, लेकिन पता चला है कि मामला चुनाव आयोग तक भी पहुंच गया है।
 उधर वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने सलारिया का नामांकन पत्र रद्द करने की मांग करते हुए आरोप लगाया कि भाजपा उम्मीदवार ने अपने नामांकन पत्र में आपराधिक मामलों के चल रहे केस की जानकारी छुपाई है। इस संबंध में वह लोक सभा हलका गुरदासपुर के चुनाव अधिकारी और चुनाव कमीशन को भी शिकायत करेंगे ।


Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.