अलवर (सोनू / शंटी )




राजस्थान के अलवर शहर में मंगलवार की सुबह दिल दहला देने वाली घटना हुई। एक परिवार के पांच सदस्यों को बेरहमी से मौत के घाट उतार देने की घटना से शहर में सनसनी फैल गई तथा लोगों में सहम का माहौल पाया जा रहा है।  शहर के शिवाजी पार्क क्षेत्र में हुई इस घटना के बाद सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर मार्चरी में रखवाया है तथा पोस्टमार्टम के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।  जानकारी के अनुसार शहर के शिवाजी पार्क 4 क 54 में किराए पर रहने वाले एक परिवार के मुखिया एवं चार बच्चों को सोमवार की देर रात अज्ञात लोगों ने तेजधार हथियारों से मौत के घाट उतार दिया। हत्या का पता मंगलवार को सुबह करीब 6 बजे तब पता लगा जब घर की महिलाएं ऊपर के कमरे से नीचे आई। पुलिस सूत्रों के अनुसार गंज खेडली के गांव गारू निवासी बनवारी लाल पुत्र मुरारी लाल व उसके भाई मुकेश अपने परिवार सहित शिवाजी पार्क के 4 क में पिछले डेढ़-दो साल रह रहा था। बनवारी बिजली का काम करता था। वहीं उसका भाई मुकेश हारमोनियम बजाता था। मुकेश शनिवार को हारमोनियम बजाने जैताना (पाली) गया हुआ था। पीछे से उसकी पत्नी कविता व दो बच्चे निक्की व विनय सहित दूसरा भाई बनवारी उसकी पत्नी व तीन बच्चे अमर, हैपी व अज्जू घर पर थे। सोमवार रात को कविता और बनवारी की पत्नी संतोष व उसका बेटा विनय (मंद बुद्धि) ऊपर के कमरे में सो रहे थे। वहीं नीचे के कमरे में बनवारी सहित चार बच्चे अमन, हैपी, अज्जू व निक्की सो रहे थे। रात्रि में अज्ञात बदमाशों ने बनवारी सहित नीचे के कमरे में सो रहे चारों बच्चों की बड़ी बेरहमी से हत्या कर दी। हत्या की जानकारी मिलते ही मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई।मामला का पता सुबह तब लगा जब कविता जाग कर नीचे आई, तो उसने कमरे से खून बहता देखा। इस पर उसकी तेज चीख निकल गई। जब उसने कमरे में अंदर जाकर देखा तो वहां पांचों लोगों की लाशें पड़ी थी। गौरतलब है कि संतोष और कविता दोनों सगी बहनें हैं और बनवारी व मुकेश सगे भाई हैं। मृतक अमन 11वीं कक्षा का छात्र था, जबकि हैपी 9वीं का और निक्की व अज्जू पांचवीं कक्षा के छात्र थे।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.